हमाम मे सब नंगे थे compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories, erotic stories. Visit dreamsfilm.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: हमाम मे सब नंगे थे

Unread post by rajaarkey » 12 Nov 2014 10:29

खैर मैने भी फ़ैसला कर लिया था कि अब्बू और अम्मी की चुदाई तो कई बार छुप

कर और फिर बाद मे कई बार साथ मे चुदवा कर भी देख चुकी हों क्यों ना आज

अम्मी की अम्मी की चुदाई का नज़ारा देखा जाय और मैं आराम से अपनी चूत पर

हाथ रख कर नाना जान और नानी की चुदाई का नज़ारा देखने को खड़ी हो गयी उधर

दूसरे कमरे मे मेरी अम्मी अपने भाई यानी कि मामू जान से चुदवा रही थी

नाना जान नानी से बोले रानी आज कई दिन बाद बहुत मस्ती चढ़ि है आज बहुत

जोरदार पेलाइ करूँगा जब कि नानी लंड सहलाते हुए कह रही थी अजी आपको भी इस

उमर मे शरम नही आती है बच्चों के बच्चे बड़े हो गये है और आप है कि लंड

लेकर चूत के पीछे पड़े रहते है उस दिन आप जब रात को चोद रहे थे तो ग़ज़ला

(मेरी अम्मी) ने देख लिया था वो भला क्या सोच रही होगी कि इस उमर मे भी

अम्मी कितनी चुड़दकड़ हैं...? तो नाना बोले अर्रे उसकी बात ना करो वो

क्या कम चुड़क्कड़ है क्या तुम्हे पता है वो अपने मियाँ का लंड तो खाती

ही है और अब तो अपने बेटे से भी चुदवाती है और तो और अब तो वो अपने

अफ़ज़ल से भी चुदवाने लगी है नानी बोली आपको भला ये सब कैसे पता...? तो

नाना ने जवाब दिया मुझे बहू (मेरी मामी) बता रही थी.

अब तो नानी और परेसान हो गयी वो बोली अब भला बहू आपसे ये सब क्यों

बताएगी..? तो नाना मुस्कुरा कर बोले भाई जब मुझसे अपनी चूत के बॉल सॉफ

करवा सकती है तो क्या इतना भी नही बताएगी... ? नानी घबरा कर बोली कहीं

आपने बहू को भी तो नही चोद दिया...? तो नाना जान हस्ते हुए बोले हां चोदा

तो है और इसमे चूतायि क्या है हमारा खानदान ही चोदु है अब तुम जब अपने

लड़के से चुदवाती हो और तुम्हारी बेटी भी उससे चुदवाती है तो मैने बहू को

चोद कर भला क्या ग़लती की...? और हां एक बात तुम्हे और बताउ मुझे तो

तब्बू के भी चाल...चलन अच्छे नही लग रहे मुझे लग रहा है कि वो भी अफ़ज़ल

से चुदवा चुकी है नाना की बाते सुन कर मैं अंदर ही अंदर हैरान भी थी और

खुस भी हो रही थी अब नानी पूरी तराह से गरमा चुकी थी क्योंकि नाना जान

बहुत देर से उसकी चूत को अपने ज़बान से चाट रहे थे तब नानी बोली मुझे तो

आपके इरादे ठीक नही लग रहे कहीं ऐसा तो नही...... उनकी बात पूरी होने से

पहले ही नाना जान बोले हां मेरी रानी तुम ठीक सोच रही हो मैं तब्बू की

नन्ही चूत चोदने की फिराक़ मे हूँ.

उनके मूह से इतना सुनकर मैं खुस हो गयी क्योंकि मुझे भी नाना के लंड मे

बहुत दम दिखा और नानी कह रही थी हां भाई जब तुम अपनी बेटी को अपनी बहू को

चोद सकते हो तो भला अपनी नवासी को कहाँ टाँगों के नीचे लाए बगैर छोड़ोगे

पर मैं भी आपसे कहे दे रही हूँ मैं भी अब अफज़ल और आपका लॉडा अपनी चूत मे

लेकर बोर हो चुकी हूँ मुझे भी कोई नया लॉडा काहिए आपको मेरी भी हसरत पूरी

करनी पड़ेगी तो नाना बोले तुम परेसान काहे होती हो मेरी जान मैं तुम्हारे

दामाद (मेरे अब्बू) को बुलवा लूँगा उससे चुदवाये भी तो कई महीने हो गये

होंगे तुम्हे...? क्या कहती हो...?

तो नानी बोली हटो भी अब जमाई राजा मे वो बात नही रह गयी मेरी चूत तो कोई

कमसिन लॉडा खाना चाह रही है तो नाना बोले है कोई नज़र मे तो नानी बोली

मुझे अकरम का लूडा खाना है अब तो नाना के साथ मेरा भी मूह खुला रह गया

क्योंकि अकरम मेरे छोटे भाई का नाम था जो अभी सिर्फ़ 14थ साल का था जबकि

वो अभी पूरी तराह से बच्चा था नाना ने कहा यार तुम भी कहाँ बच्चे के

चक्कर मे पड़ी हो अर्सद (मेरे बड़े भाई)से चुदवा लेना उसके लंड मे भी

बहुत जान है अपनी मा और बहन को बहुत जम कर चोदता है.

पर नानी तो आड़ ही गयी नही मुझे तो उस बच्चे को ही जवान बनाना है तो नाना

जान बोले ठीक है मेरी जान अब तुम ज़रा झुक जाओ तो मैं तुम्हारी गांद मारु

आज बहुत मन है गांद मारने का नानी बोली नही गांद नही चूत मार लो भले ही

पीछे से मार लो पर गांद ना मारो बहुत तकलीफ़ होती है पता नही तुम मर्दों

को गांद मारने मे कितना मज़ा आता है यहाँ तो गांद ही फट जाती है उन 2नो

की बाते सुन सुन कर मेरी चूत से पानी रिसने लगा था और मैं अब अपनी चूत मे

उंगली डाल कर अंदर..बाहर कर रही थी और उधर आख़िर नाना जान नानी को घोड़ी

बना कर अपना लंड उनकी गांद मे घुसा कर चढ़े उन पर और लगाने लगे धक्के

आआअहह अहह आआईयईईईईई आआहह मार डआलाआाअ उउउफफफ्फ़ धीरे...धीरे करूऊऊऊओ

आआआअहह जान निकल जाएगी आआहह नानी के मूह से कराह निकल रही थी और नाना

अपना काम जारी रखे थे उनके धक्कों की रफ़्तार देख कर मैं भी हिल गयी वो

किसी जवान की तराह धक्के लगा रहे थे और फिर नाना जान अपना हाथ नानी की

लटकी हुई भारी...भारी चूचियों पर ले जाकर भोपूं की तराह दबाने लगे

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: हमाम मे सब नंगे थे

Unread post by rajaarkey » 12 Nov 2014 10:30

अब नानी को मज़ा आने लगा उनकी आआहह आआअहह अहहााआ अहहााआआ मे बदल चुकी थी

और अब वो भी अपने चूतड़ आगे...पीछे धकेल रही थी और थोड़ी ही देर मे नाना

जान उनकी गांद मे झड़ने लगे तो नानी ने झत्ट से अपना मूह आगे तकिये पर

गिराया और अपने चूतड़ को और उपर की तरफ उठा लिया जिससे की नाना जान का

सारा रस उनकी गांद के अंदर ही गिरने लगा.

और कुछ देर बाद ही वो लोग बेड पर वैसे ही लेट गये और मैं भी मामू के रूम

की तरफ बढ़ गयी ये जानते हुए भी की अंदर अम्मी चुदवा रही होंगी पर क्या

करे मेरी चूत मे भी तो कीड़े काट रहे थे अब भला अम्मी से शरम कैसी

मैं मामू जान के रूम मे घुस गयी जहाँ मेरी अम्मी पूरी तराह से नंगी होकर

मामू जान का लॉडा अपनी चूत मे सटाक रही थी और मैं पीछे से मामू जान की

पीठ पर लद गयी जिससे मम्मी की चूची पर पड़ने वाला वजन और ज़्यादा हो गया

तब ही मामू और मम्मी ने चौंक कर मुझे देखा और मम्मी मुस्कुरा कर बोली

छिनाल तुझसे एक रात का भी सब्र नही होता है इतने दिन बाद भाई जान का लंड

अपनी चूत मे लेने का मौका मिला था उसमे भी टाँग अड़ा दी.

तब मैने खुस होते हुए कहा अम्मी मुबारक़ हो आपकी अम्मी यानी कि मेरी नानी

जान कल अकरम को जवान बनाने वाली है और नाना जान मेरी चूत चोदने वाले है

मेरी बात सुनकर मामू जान ने जल्दी से अम्मी को छोड़कर एक तरफ लिटाया और

बोले हां बेटी अब बताओ क्या बता रही थी तुम अब्बू और अम्मी के बारे

मे...? तब मैने उनको और अम्मी को पूरी बात बता दी तो अम्मी बोली हाय

भोसड़ी के अब्बू और अम्मी जान अब इस उमर मे भी कितने चुड़क्कड़ है यहाँ

तो अभी तक मैं अपने आप को ही चुड़क्कड़ समझ रही थी पर मेरी अम्मी और

अब्बू तो मुझसे भी आगे है अम्मी की नज़र अभी से मेरे नाबालिग बच्चे अकरम

पर है तो मैं बोली आप उनकी चूत से बाहर आई हो तो बड़ी चुड़दकड़ तो वही

हुई ना तब तक ममुजान बोले आपा तो कल इसका मतलब अकरम आएगा तो अम्मी बोली

हां जब उसके नाना जान बुलाएँगे तो ज़रूर आएगा.

मामू बोले तो आप कल अम्मी से खुलकर बात कर लीजिएगा ताकि वो बेचारा शरमाये

नही और मैं सोच रहा हूँ कि कल हम सब बड़े वाले कमरे मे एक साथ ही चुदाई

का खेल खेले मतलब. अब्बू और तब्बू. अम्मी और अकरम. और मैं और आप. हम सब

एक साथ ही जम कर मज़े लेंगे तो अम्मी बोली पता नही अब्बू और अम्मी राज़ी

होंगे इस बात के लिए या नही...? तो मामू बोले इसकी ज़िम्मेदारी आपकी है

और 2सरे दिन अकरम आ ही गया और दिन मे अम्मी ने खूसखबरी सुनाई कि तब्बू

तेरे नाना और नानी एक साथ एक ही रूम मे चुदाई करने को राज़ी हो गये है तो

मैने कहा अम्मी नाना जान कल तो नही माने इतनी जल्दी आख़िर राज़ी कैसे हो

गये वो...?

अम्मी बोली बेटी तेरी चूत का नशा उन पर सवार है और अम्मी को तो पता नही

तेरे भाई अकरम के लंड मे क्या नज़र आया कि वो पूरी तराह बेकरार है उससे

चुदवाने को बस अब एक काम यही करना है कि जो बड़े कमरे मे बेड है उसको हटा

कर ज़मीन पर गद्दे बिछा देंगे 3 ...4 गद्दे मिला कर बहुत मज़ेदार जगाह हो

जाएगी और फिर हम लोग रात भर खूब मज़ा लेंगे तो मैने कहा अम्मी हम लोगों

की बात अलग है पर अकरम तो अभी पूरी तराह से समझदार नही हुआ है क्या वो

शरमाएगा नही...?

अम्मी बोली बेटी तू जितना नन्हा अपने भाई को समझ रही है असल मे उतना वो

है नही मैने कई बार उसको पी.सी पर बी/एफ देखते देखा है और मैं खुद भी

उससे चुदवाना चाह रही थी पर अभी उसकी आगे का ख्याल करके रह जाती थी पर

अम्मी मुझसे पहले ही उसका लॉडा चख लेंगी. खैर अकरम के आने के बाद अम्मी

ने उसको भी सब बाते बता दी थी कि रात को क्या होना है और रात को हम सब

बड़े वाले कमरे मे पहुच गये तो नाना ने मुझे अपनी तरफ खीचा.

क्रमशः.......................


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: हमाम मे सब नंगे थे

Unread post by rajaarkey » 12 Nov 2014 10:30

Hamam Me Sab Nange The--2

gataank se aage..............................

Main aaaaaahhhhh aaaaaaaahhhhhhh aaaayyyiiiiiiii kar rahi thi aur

maamu the ki ghama...gham dhakke maare ja rahe the aur meri choochiyon

ki halat kharaab hui ja rahi thi aur choot ki to ma bahan ki jai pahle

hi maamu ne kar rakhi thi tabn hi ek aur qayamat barpa hui hua ye ki

maamu ne meri dusri taang jo zameen pe thi usko maamu ne apne ek haath

se pakad kar apni kamar par rakh liya ab main poori taraah se hawa me

jhool rahi thi meri choochi abhi bhi mej par thi aur main hawa me thi

maamu ke dhakke meri gaand faade hue the meri halat ab tak thodi

sudhar chuki thi aur maine maamu se kaha aaaaaaaaaaah maamu is taraah

to choot maraane ka maza aa gaya ab aur teji se dhakke maariye aap

mujhe bahut achha lag raha hai maamu bole beti abhi to tujhe aur achha

lagega jannat ka maza aayega aaj tujhe aur fir unhone apne dhakko ki

raftaar tez kar di aur kuch der me hi main apni choot se ras bahar

karne lagi paani nikalne se facha...fach ki awaaz aane lagi thi maine

maamu se kaha maamu main to jhad gayi aap abhi tak apna kaam poora

nahi kar paay...?

Wo bole beti abhi to suruaat hai abhi tu dekhti ja aur ye khkar unhone

apna Lund meri choot se nikaal liya aur table ke upar 2no pair latka

kar khud baith gaye mujhe thodi hairaani hui maine poocha maamujaan

abhi to aap jhade nahi fir aapne apna Lund bahar kyon nikaal liya..?

To maamu bole beti abhi ye itni jaldi nahi jhadega ab tumko main

doosre style me chodunga aao tum mere Lund par baith jaao main unke

tane hue Lund par apne pair daay...baay karke baith gayi kuch der to

maamu aise hi araam ..araam se meri choochiyan chooste hue dabaate hue

apna Lund andar bahar karne lage aur main fir se garma gayi thi to

apne chutad ko uchaalne lagi magar tab hi maamu ne achanak mujhe ulti

taraf jhatka de diya yaani ki zameen ki taraf meri peeth poori tarah

se mud gayi thi aur dartd ke maare mere muh se karaah nikal padi thi

mera sar neechey ki taraf tha aur choot me maamu jaan apna Lund chaape

hue the aur apne haath bada kar meri choochiyan chooti taraah daba

rahe the kuch der tak dard bardaast karne ke baad mujhe is aasan me

bhi maja aane laga ab main maamu se boli maamu jaan bahut maza aa raha

hai aapne to sach me abbu ki chudaayi bhula di ab poori taakat laga

kar aap bhi ghuss jaaiye meri choot me aaaaaaah aaaaah

aaaaaaaaaayiiiiiiii uuuuuuuuuuuuuffffff ff kameeneeeeeeee haraami

maaamuuuuu aaaaaaaaaaaahhhh bahut mast chudaayi karte ho aap kuch der

tak dhuan...daar chudaayi karne ke baad maamu bhi jhad gaye

Haan to us din mamu se chudwa kar meri choot ka dard ke maare choota

haal ho gaya tha aur mamujaan bhi bahut thak gaye the hum log bed par

lete hue the kuch der baad maamu jaan bole beti ab kal fir tu mujhse

chudwaayegi? To main boli nahi maamu aaj to aapne meri choot ka baaja

hi baja diya hai ab kal rest karna padega to maamu bole theek hai ab

kal teri maa ko chodna padega wo bechaari bhi kai din se nahi chudwa

paayi hai jab aapa yahaan aayi thi to teri maami yahaan thi wo hi raat

ko peecha nahi chodti thi aur jab wo apne maayke gayi to tu apni choot

pasaar ke chali aayi bechaari aapa tarasti rh gayi to dusre din ammi

ka chudna tay ho gaya aur doosre din hum log khaana wagera khaa kar

apne apne room me sone gaye aur thodi hi der me ammi mujhe sota jaan

kar maamu jaan ke room me chali gayi main to samajh hi gayi thi wahaan

kya hoga aur isme kuch naya bhi nahi tha kyonki ammi to khud hi mujhe

abbu aur bhai se meri choot faila kar chudwa chuki thi.

Kuch der baad main pesaab karne baathroom ki taraf gayi to wahaan nana

jaan ke room ki light jal rahi thi mujhe thodi hairat hui ki nana jaan

itni raat gaye tak jag rahe hai maine dheere se khidki ka parda hata

kar jhaank kar dekha to andar ka nazaara hi rangeen tha nana jaan

poori taraah se nange the aur meri naani bhi nangi baithi apne haath

se unka lund sahla rahi thi main aap sabko bata doon ki mere naana ki

age kareeb 52th aur naani 48 ke kareeb hongi nanaa jaan aise to buddhe

hi dikhte hai par naani me abhi bhi jawaani ke lachan hai unka badan

charhara type ka hai jiski wajha se unki age 36...38 ki hi lagtui hai

aur choochi bhi unki dheeli nahi padi hai naana jaan unki choochi

masal kar ragad rahe the to unki choochi ke nippals ubhar kar bahut hi

sexy shape me tane hue the main naan jaan ko kam se kam is age me to

aisa nahi samajhti thi par jo nazaara meri aankhon ke saamne tha usse

bhi inkaar nahi kiya ja sakta tha.