कमीना compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories, erotic stories. Visit dreamsfilm.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: कमीना

Unread post by rajaarkey » 08 Nov 2014 08:53

रवि पायल को नंगी ही अपनी गोद मे उठा कर खड़ा हो जाता है और पायल उसके दोनो ओर अपनी टाँगे करे उससे चिपक जाती है रवि का मोटा लंड पायल की गान्ड के छेद से सटा रहता है, रवि पायल को बेड पर लेटा देता है और उसके मुँह के पास आकर उसके होंठो को चूमता हुआ

रवि- दीदी मेरे लंड को देखो सह लोगि ना तुम

पायल- उसके मोटे लंड को अपने हाथ मे कस कर दबाते हुए, तू मेरी फिकर मत कर तेरा पूरा लंड एक ही बार मे खा जाउन्गि मे, अब देर मत कर रवि देख मेरी चूत का क्या हाल है और रवि को अपनी चूत फैला कर दोनो जाँघो को हवा मे उठा कर अपना मस्ताना भोसड़ा दिखाती है, रवि अपनी दीदी की चिकनी फूली हुई बुर को देख कर उसको अपने मुँह मे भर लेता है और एक बार खूब ज़ोर से उसको पूरी बुर को अपनी जीभ से गीला करता हुआ अपने लंड को अपनी दीदी की गुलाबी फूली हुई चूत मे लगा कर उसकी केले के समान तनी हुई जाँघो को फोल्ड करते हुए पायल की गदराई गान्ड को दबोच कर एक तगड़ा धक्का अपनी दीदी की चूत मे मार देता है और उसका आधा लंड पायल की रसीली चूत को फाड़ता हुआ अंदर फस जाता है और पायल आह मर गई रे कह कर ज़ोर से चिल्लाति है और रवि जल्दी से उसके मुँह पर हाथ रख कर उसकी आवाज़ को बंद करता हुआ, अभी तो कह रही

थी एक ही बार मे पूरा लंड खा जाओगी अब क्या हुआ,

पायल अपने पेरो को इधर उधर मारती हुई आह रवि बहुत दर्द हो रहा है प्लीज़ एक बार निकाल ले, रवि ठीक है और रवि उसकी जाँघो को अपने हाथ मे कस कर पकड़ता हुआ दूसरा धक्का कुछ ज़्यादा ही तेज अपनी दीदी की चूत मे मार देता है और पायल एक दम अकड़ जाती है और उसकी आँखे पलट कर बंद हो जाती है और रवि उसके उपर आकर लेट जाता है और पायल उसको अपने

उपर से धकेल्ति हुई रवि मर जाउन्गि प्लीज़ रवि निकाल ले आह आ. रवि पायल के मोटे-मोटे दूध को अपने हाथो मे भर

कर कस-कस कर दबाता हुआ उसकी चूत मे धीरे-धीरे लंड अंदर बाहर करना शुरू कर देता है और पायल गहरी-गहरी

साँसे लेती हुई कराहने लगती है, रवि अपनी दीदी को धीरे-धीरे चोदता हुआ

रवि- दीदी तुम्हारी चूत बहुत मस्त है कितना कसा हुआ मेरा लंड अंदर जा रहा है

पायल- सीसियाते हुए, तेरे लंड ने मेरी चूत फाड़ दी है रवि, आह क्या धीरे-धीरे छू रहा है थोड़ा कस-कस कर मार ना

मेरी चूत, बहुत खुजली हो रही है आह आहह, रवि अपनी दीदी की बात सुन कर उसकी चूत मे अपने लंड के तगड़े धक्के मारने लगता है और पायल अपनी मोटी गान्ड को उठा-उठा के रवि के लंड के धक्को का जवाब देने लगती है,

पायल- आह,आह हाय रवि मुझे क्या मालूम था कि चूत मराने मे इतना मज़ा आता है नही तो मे कब की तुझसे चुद गई

होती और चोद, खूब चोद, कस के चोद मेरे भैया, आज अपनी दीदी की चूत को चोद-चोद के फाड़ दे आ,आ,आ

रवि पायल के होंठो को चूमता हुआ उसके गदराए दूध को कस कर दबाते हुए अपने लंड की करारी ठोकर अपनी प्यारी दीदी

की मस्तानी चूत मे मारने लगता है और उसका मोटा लंड उसकी बहन की चूत मे सतसट अंदर बाहर होने लगता है, पायल

पागलो की तरह रवि को चूमने लगती है और उसके हर धक्के के साथ अपनी गदराई मोटी गान्ड को उपर उठा कर अपनी चूत को रवि के लंड पर मारने लगती है, पायल की चूत उसके चूत रस से पानी-पानी हो जाती है और वह आसमान मे उड़ने लगती है,

रवि अपनी दीदी को कस-कस कर चोदना शुरू कर देता है उनकी चुदाई की फ़च-फ़च की आवाज़ पूरे कमरे मे गुजने लगती

है, पायल आह आह ओह ओह का स्वर निकालते हुए रवि को पूरी तरह कस लेती है और अपनी चूत को रवि के लंड मे कस कर अपनी गान्ड को और उपर उठा लेती है, रवि अपनी बहन की गदराई गान्ड के नीचे अपने हाथ को लगा कर उसके भारी चुतडो को दबोच लेता है और अपनी दीदी को कस-कस कर ठोकने लगता है और पायल एक दम आहह करते हुए अकड़ जाती है और रवि सतसट अपने लंड को अपनी दीदी की चूत मे मारता हुआ उसकी चूत की गहराई मे जाकर अपने लंड को पूरा फसा कर अपने लंड से रुक-रुक कर लंबी पिचकारी मारने लगता है और उसकी पिचकारी की मार पायल के गर्भ तक महसूस होने लगती है और पायल भी रवि के साथ कस कर चिपकती हुई बह जाती है,

दोनो भाई बहन लंबी-लंबी साँसे लेते हुए हफ्ते रहते है और दोनो की आँखे बंद रहती है, करीब दो मिनिट तक रवि

अपनी बहन पर चढ़ा हांफता रहता है उसके बाद रवि जैसे ही उठने लगता है पायल उसको अपनी बाँहो मे जाकड़ लेती है और फिर से अपनी कमर हिलाने लगती है, पायल तब तक रवि के लंड को अपनी चूत मे दबोचे हिलती रहती है जब तक कि रवि का लंड उसकी चूत से खुद ही बाहर नही आ जाता है, उसके बाद रवि अपनी दीदी के उपर से उठ कर अपने लंड को चादर से पोछता है और फिर अपनी दीदी की ओर देखता है तो पायल उसको देख कर मुस्कुराती है तब रवि उसको देख कर मुस्कुराते हुए अपनी आँख मार देता है, पायल उसकी हरकत पर मुस्कुरा कर उसके बाजू मे एक हाथ कस कर मारती हुई, कमीना कही का, और फिर पायल नंगी ही उठ कर खड़ी हो जाती है और अपनी गदराई मोटी गान्ड को मतकाती हुई बाथरूम की ओर जाने लगती है, रवि अपनी

दीदी की गदराई मस्तानी गान्ड की थिरकन को ललचाई नज़रो से देखता है तभी पायल पलट कर रवि को देखती है और जब उसे अपने मोटे-मोटे फैले हुए गदराए चुतडो को देखता पाती है तो हस कर वही झुक कर अपने हाथो से अपनी गान्ड को फैला कर अपनी मोटी गान्ड के छेद को रवि को दिखा देती है, रवि उसकी इस हरकत से पागल हो जाता है और उठ कर पायल की और जाने लगता है और पायल मुस्कुरा कर भाग कर बाथरूम मे घुस जाती है और जैसे ही दरवाजा बंद करने लगती है

रवि हाथ अदा कर रोक देता है और खुद भी बाथरूम मे घुस जाता है,

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: कमीना

Unread post by rajaarkey » 08 Nov 2014 08:54

पायल- रवि क्या कर रहा है मे आती हू ना बाहर मुझे पेशाब तो कर लेने दे

रवि - मे भी देखुगा तुम कैसे मुतती हो

पायल- रवि तू बाहर जा मुझे तेरे सामने नही मुतना है

रवि- ओफ्फ हो दीदी मेरे सामने नंगी खड़ी हो फिर भी शर्मा रही हो

पायल- लेकिन रवि,

रवि- लेकिन-वेकीन कुछ नही अब जल्दी करो

पायल- रवि को देख कर मुस्कुराते हुए, अच्छा करती हू

और बैठने लगती है तो रवि उसका हाथ पकड़ कर, नही दीदी बैठ कर नही खड़ी होकर करो

पायल- तू पागल है क्या खड़ी होकर मुझसे नही बनता है

रवि - सब बन जाएगा तुम करो तो सही और पायल को पीछे से हाथ डाल कर एक हाथ से उसकी गुदा और दूसरे हाथ से उसके दूध को मसलता हुआ, मेरा मुँह क्या देख रही हो करो ना

पायल- खड़ी-खड़ी ही रुक-रुक कर मूतने लगती है और रवि उसकी चूत को सहलाने लगता है, पायल की आँखो मे कुछ शर्म

सी आ जाती है और वह रवि से चिपक जाती है रवि उसको वही बैठा कर उसकी चूत मेपानी डाल कर उसको रगड़-रगड़ कर

धोने लगता है, रवि पायल की चूत के छेद मे उंगली डाल-डाल कर उसकी चूत पर ठंडा पानी डाल-डाल कर उसकी चूत को धो देता है उसके बाद रवि पायल को लेकर बाहर आ जाता है और बाथरूम के गेट पर रुक जाता है पायल दो कदम आगे चल कर पलट कर

पायल- क्या हुआ तू रुक क्यो गया

रवि- उसके भारी चुतडो को देखता हुआ कुछ नही तुम चलो तो

पायल- मुस्कुरा कर मे जानती हू तू क्यो रुक गया, तू मेरी गदराई मोटी गान्ड की थिरकन देखना चाहता है ना

रवि- मुस्कुरा कर, दीदी तुम बहुत समझदार हो, तुम्हे तो मेरी बीबी होना चाहिए था

पायल- तो कौन सा तू मेरे साथ भाई बहन वाले काम करता है, चोदता तो अपनी बीबी की तरह ही है

रवि- नही दीदी, जितना मज़ा अपनी जवान दीदी को चोदने मे आता है उतना मज़ा शायद अपनी बीबी को भी चोदने मे नही

आता होगा, और जब तुम्हारी शादी होगी तो तुम्हे भी उतना मज़ा अपने पति से चुदवाने मे नही आएगा जितना मज़ा तुम्हे

अपने भाई से चुदवाने मे आया होगा

पायल- मुस्कुरा कर तूने कहाँ से सीखा यह सब, इसीलिए तू अपनी दीदी को चोदने के लिए तड़प रहा था

रवि- पायल के पास आकर उसके रसीले होंठो को अपने मुँह मे भर कर चूमता हुआ, क्या तुम मेरे लंड को अपनी चूत मे

लेने के लिए नही तड़प रही थी,

पायल- मे तो बहुत तड़प रही थी लेकिन तुझे तो मुझसे अच्छी लड़किया भी चोदने को मिल जाती फिर तू मेरे ही पीछे हाथ

धोकर क्यो पड़ा हुआ था,

रवि- दीदी मुझे लड़किया तो बहुत पसंद आई लेकिन जब मे तुम्हे नंगी करके चोदने की कल्पना करता हू ना तो मुझे एक

अलग ही मज़ा आता है, तुम्हारी नशीली गदराई जवानी की बात ही अलग है, उपर से जब मे सोचता हू कि तुम मेरी दीदी हो तो

मेरे लंड मे एक अलग ही तनाव आता है और मे तुम्हे पूरी नंगी करके अपनी बाँहो मे भर लेना चाहता हू,

पायल- रवि के मोटे लंड को अपने हाथो मे भर कर उससे चिपकती हुई, रवि अब तुझे मुझको रोज चोदना पड़ेगा मे तेरे

बिना नही रह सकती हू

रवि- दीदी तुम फिकर क्यो करती हो आज से तुम रोज अपने भाई के साथ नंगी ही सोऑगी और तुम्हारा भाई अपनी दीदी को रोज कस कर चोदेगा, मे भी तुम्हारे बिना नही रह सकता हू,

पायल- लेकिन रवि अब भाभी हमारे घर मे आगाई है इसलिए तू अपनी हर्कतो पर कंट्रोल रखेगा और हमे बहुत

सावधानी से काम करना होगा उन्हे अगर ज़रा भी भनक लगी तो भैया हमारी जान ले लेंगे,

रवि- पायल को अपने गोद मे उठा कर अपने सीने से चिपका लेता है और पायल नंगी ही उसकी कमर के आसपास अपने पेरो को लपेट कर उससे चुपक जाती है और रवि अपने लंड को पायल की चूत मे सेट करके उसे सॅट से अपने लंड पर बैठा लेता है और उसका लंड उसकी दीदी की चूत फाड़ता हुआ अंदर समा जाता है और पायल रवि का मुँह चूमते हुए उससे चिपक जाती है

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: कमीना

Unread post by rajaarkey » 08 Nov 2014 08:55

रवि आराम-आराम से पायल की मोटी गदराई गान्ड को अपने हाथो से थामे उपर नीचे करने लगता है और पायल अपने भाई के उपर चढ़ि अपनी चूत मारती रहती है,

रवि- दीदी यह तो तुम सच कह रही हो की भाभी के आने से हमे सावधानी रखनी होगी लेकिन अगर मे भाभी को भी चोद

दू तो फिर तो हमारी सारी टेन्षन ख़तम हो जाएगी

पायल- बड़ा आया भाभी को चोदने वाला, तूने सब को अपनी दीदी की तरह समझ रखा है क्या, भाभी से कोई उल्टी बात कर

भी मत देना नही तो इतने जूते खाएगा की गिनना भी मुश्किल हो जाएगा,

रवि- दीदी अच्छा ये बताओ तुम एक तेज नेचर की लड़की थी ना,

पायल- हाँ तो

रवि- दीदी जब मे तुम्हे फसा कर चोद सकता हू तो फिर भाभी क्या चीज़ है

पायल- देख रवि हर चीज़ को मज़ाक मे मत लिया कर तू ज़रूरत से ज़्यादा कॉन्फिडेंट मत हुआ कर किसी दिन तेरा ओवरकॉन्फिडेंट तुझ पर भारी पड़ेगा

रवि- पायल के दूध को अपने हाथो मे भर कर दबाता हुआ उसके रसीले होंठो को चूम कर, अच्छा दीदी मेरे एक सवाल

का जवाब दो

पायल- आह क्या

रवि- दीदी मान लो तुम्हारी शादी हो गई होती और तुम्हारा देवेर किसी दिन तुम्हारे पास खड़ा हुआ बाते करते-करते अचानक

तुम्हारी मोटी गान्ड को अपने हाथो से सहला देता तब तुम यह बात अपने पति को बताती कि नही,

पायल- कुछ सोच कर नही

रवि- पर क्यो नही बताती

पायल- इसलिए कि ऐसी बात अगर मे अपने पति से करती तो हो सकता है उल्टे वो मुझे ही ग़लत समझ लेते और अपने भाई पर उन्हे पूरा विश्वास होता, तब मे सही होते हुए भी उनकी नज़र मे बिना कारण ही ग़लत हो जाती

रवि- बिल्कुल सही कहा तुमने आंड दिस ईज़ फॅक्ट, यही होता भी है हमरे कल्चर मे औरत अक्सर ऐसी बाते किसी से शेर नही करती जिनमे उन्हे अपनी ही इज़्ज़त का ख़तरा हो, मेरे ख्याल से तुम समझ गई होगी कि मे क्या कहना चाहता हू

पायल- पर रवि कुछ औरते ऐसी भी होती है जो यह सब नही सोचती और सीधे आदमी को मरवा देती है

रवि- दीदी तुम अपने कमिने भाई को जानती नही हो, भाभी को तो मे चोद कर ही रहुगा उसके लिए मुझे चाहे जो करना

पड़े, उसकी गदराई जवानी देख कर तो मे उसे फोटो देख कर ही चोद चुका हू, पर दीदी तुम्हे मेरा थोड़ा साथ देना

होगा,

पायल- रवि के उपर से उतरती हुई, मे तेरा साथ क्यो दू

रवि- दीदी तुम समझती नही हो यह हम दोनो के लिए बहुत ज़रूरी है कि भाभी को भी हम अपने खेल मे शामिल कर ले

वरना किसी दिन हम पकड़े गये तो ज़्यादा बड़ी बात हो जाएगी या फिर आज के बाद हम दोनो यह सब बंद कर्दे, अब फ़ैसला तुम्हारे हाथ मे है तुम अपने भाई के लंड से रोज चुदना चाहती हो या आज आख़िरी चुदाई समझ कर भूल जाना चाहती हो.

पायल- रवि से चिपकते हुए उसके लंड को पकड़ कर, रवि यह भी कोई भूलने वाली चीज़ है क्या इसके बिना तो मे एक दिन नही रह सकती, लेकिन रवि तू जो कह रहा है वह बहुत रिसकी काम है कही कुछ गड़बड़ हो गई तो,

रवि- दीदी पहले हम भाभी को अच्छे से आजमाएगे यदि हमे लगा कि वह अपनी चूत मरवाने के लिए मर रही है तब

हम आगे कदम बढ़ाएगे,

पायल- ठीक है लेकिन जो भी करना सोच समझ कर करना वह तेरी भाभी है दीदी नही

रवि- पायल के होंठो को चूमते हुए, दीदी यू आर वेरी स्वीट, काश उपर वाला हर किसी को तुम जैसी मस्तानी बहन दे, और

रवि पायल को अपने सीने से लगा कर अपने हाथ नीचे ले जाकर उसकी गदराई गान्ड को अपने हाथो से दबोचते हुए

रवि- दीदी

पायल- हू

रवि- दीदी मुझे तुम्हारी ये गदराई मोटी गान्ड बहुत अच्छी लगती है

पायल- मे जानती हू, देखेगा अपनी दीदी की मोटी गान्ड को

रवि- दिखाओ ना, देखूँगा भी और चाटूँगा भी

पायल- अच्छा जा बेड पर जाकर बैठ जा

रवि बेड पर जाकर बैठ जाता है और पायल उसके करीब आकर घूम जाती है और फिर रवि को मूड कर देखती हुई अपनी मस्ताने गदराए फैले हुए चुतडो को मटकाने वाले अंदाज मे चलने लगती है और फिर पलट कर मुस्कुराते हुए रवि की ओर

देखती है और अपनी गान्ड को बाहर की ओर उभार कर अपने दोनो हाथो से अपनी गान्ड के भारी-भारी पाटो को विपरीत दिशा मे फैला कर अपनी गुदा को अपने भाई को दिखाती हुई ले देख जी भर के कैसी है

क्रमशः.........................