दास्तान ए चुदाई (माँ बेटी बेटा और किरायेदार)

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories, erotic stories. Visit dreamsfilm.ru
Nitin
Pro Member
Posts: 166
Joined: 02 Jan 2018 16:18

Re: दास्तान ए चुदाई (माँ बेटी बेटा और किरायेदार)

Unread post by Nitin » 05 Feb 2018 10:34

सीमा:अहह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई ओह और सीमा पागलों की तरह अमन के होंठो को चूसने लगी फिर से सीमा की कमर पीछे की तरफ गयी और इसबार दोनो ने तेज़ी से अपनी कमर को धक्का दिया लंड फतच की आवाज़ के साथ चूत के अंदर समा गया सीमा के पूरे जिस्म में मस्ती की लहर दौड़ रही थी सीमा ने अमन को अपनी बाहों में भींचे हुए सीधा लेट कर अमन को अपने ऊपर खींच लिया अब सीमा अमन के नीचे लेटीहुई थी अमन सीमा की जांघों के बीच लेटा हुआ था सीमा ने अपनी जाँघो को फैला कर अमन की कमर पर लपेट लिया और अपने दोनो हाथो से अपनी नाइटी की स्ट्रिपेस को अपने कंधों से सरका कर अपनी बाहों से निकाल दिया और नाइटी चुचियों से नीचे कर ली सीमा की 38 साइज़ की चुचियाँ अब अमन के सामने थी अमन एक टक उसे घूरे जा रहा था सीमा मन में सोचने लगी अब इस अनाड़ी को चुचियों से खेलना भी सीखाना पड़ेगा सीमा ने अमन का एक हाथ पकड़ कर अपनी एक चुचि पर रख दिया और अपने हाथ को अमन के हाथ पर दबाने लगी अमन सीमा की चुचि को दबाने लगा सीमा ने अपना हाथ अमन के हाथ से हटा दिया और अमन के सर के पीछे हाथ लेजा कर कर उसे अपने दूसरी चुचि पर झुका दिया अमन सीमा की आँखों में देखने लगा जैसे पूछ रहा हो अब क्या करू पर सीमा ने अमन के सर को और झुका दिया और अमन के होंठ सीमा की दूसरी चुचि के निपल पर जा लगे

सीमा:सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई उम्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह

अमन को अब तक समझ आ चुका था कि उसने क्या करना है अमन ने अपना मूँह खोल कर सीमा की चुचि के निपल को मूँह में ले लिया और चूसने लगा सीमा ने नीचे अपनी कमर हिलानी चालू कर दी सीमा की चूत में आग बढ़ती जा रही थी सीमा को ये भी डर था कि अमन कहीं जल्दी ना झड जाए पर अब अमन के लिए रुकना ना मुनकीन था अमन भी अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा जैसे ही अमन अपना लंड बाहर निकालता सीमा अपनी गान्ड को ऊपर की तरफ उछालती और ऊपर से अमन अपनी कमर का पूरा ज़ोर लगा देता लंड फतच-2 की आवाज़ से अंदर बाहर होने लगा 6-7 धक्कों के बाद अमन को लगा जैसे उसके लंड से कोई चीज़निकलने वाली है और दो तीन धक्को के बाद अमन के लंड ने सीमा की चूत में वीर्य की बोछार करनी शुरू कर दी और अमन सीमा के ऊपर लूड़क गया अमन को झड़ता देख सीमा ने नीचे से तेज़ी से अपनी गान्ड उछालनी शुरू कर दी और आधे मिनिट में ही 10-12 धक्को के साथ सीमा की चूत ने भी पानी छोड़ दिया सीमा अमन से चिपक गयी उसकी टाँगें अमन की कमर पर जकड गयी चुचियाँ अमन की चेस्ट में धँस गयी सीमा के चहरे पर संतुष्टि के भाव उभर आए थे उसके चहरे पर जो मुस्कान थी अमन ने कई सालों बाद देखी थी


सीमा के बाल उसके फेस बिखरे हुए थे और उसके होंठो की लिपस्टिक फैली हुई थी सीमा ने बड़े प्यार से अमन के फेस को अपने हाथों में लिया और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए अमन ने जी भर के सीमा के होंठो को चूसा लंड ढीला पड़ गया और चूत से बाहर आ गया अमन सीमा की बगल में लूड़क गया और लेट गया सीमा ने रज़ाई को हटाया तो देखा सीमा की झान्टे अमन और उसकी चूत के पानी से भीगी हुई थी पूरी चूत पर काम रस लगा हुआ था सीमा ने पास पड़े कपड़े से अपनी चूत और झान्टो को सॉफ किया और फिर अमन के लंड को पकड़ कर उसके लंड और गोलियों को सॉफ किया और फिर से रज़ाई ओढ़ ली दोनो एक दूसरे की बाहों में समा गये सीमा तो चाहती थी कि वो सारी रात अमन से चुदति रहे पर वो जानती थी कि ये अमन का फर्स्ट टाइम है और अगर वो फिर से पहले झड गया तो में अधूरी रह जाउन्गी इसलिए उसने आज के लिए इतना ही काफ़ी हे सोच कर सो गयी और अमन भी अपना फेस सीमा की नरम चुचियाँ में छुपा कर सो गया अगली सुबह सीमा की नींद खुली तो 6 बज चुके सीमा ने आँखें खोली और देखा सीमा के साथ अमन साथ चिपका हुआ था सीमा के हिलने से अमन भी उठ गया सीमा ने टाइम देखा तो 6 बज चुके थे

सीमा: उठते हुए) पिता जी और माँ जी उठ गये होंगे

और सीमा ने उठ कर अलमारी से एक दूसरी नाइटी निकाली जो कि क्रीम कलर की थी और वो लेकर बाथरूम में चली गयी जब सीमा बाथरूम से बाहर आई तो अमन वहाँ से अपने रूम में जा चुका था सीमा किचन में चली गयी और चाइ बनाने लगी और चाइ बना कर उसने चाइ अपने सास ससुर को दी और फिर से किचन में आकर एक बड़ा सा ग्लास दूध लेकर अमन के रूम में गयी अमन अभी नहा कर बाहर निकला था सीमा ने दूध को टेबल पर रखा और अमन से बोली दूध पी लेना ठंडा हो जाएगा सीमा की नज़रें अमन के गोरे बदन का जायज़ा लेरही थी

अमन: दूध पर में तो सुबह चाइ पीता हूँ

सीमा: अपने चहरे पर कातिल मुस्कान लाते हुए) तुम्हें अब दूध ही पीना चाहिए कितनी मेहनत करते हो ये तुम्हारी सेहत के लिए ज़रूरी है

अमन शरमा गया और सर झुका कर अपने कपड़े निकालने लगा

सीमा मन में सोच रही थी कि अमन कितना भोला है अब भी शरमा रहा है और सीमा बाहर किचन में आ गयी और नाश्ता तैयार करने लग गयी

दूसरी तरफ बबलू अभी -2 घर वापिस आया था रेणु स्कूल जा चुकी थी बबलू रात भर स्टेशन पर ही सोता रहा क्योंकि काम ज़्यादा नही था बबलू फ्रेश होकर ऊपर चला गया शोभा किचन में बबलू के लिए नाश्ता थाली में डाल रही थी बबलू का आज चूत चोदने का बहुत मन था बबलू ने पीछे जाकर शोभा की चुचियों को पकड़ कर मसल दिया

शोभा:अहह क्या करा रहो हो चोदे मुझे याद है ना हमें रेणु के सामने कसम खाई है

बबलू: में कोई कसम वसम नही जानता

और बबलू घुटनो के बल नीचे बैठ गया और एक ही झटके में शोभा की सारी और पेटिकॉट को ऊपर उठा दिया और दोनो हाथों से शोभा के चुतड़ों को पकड़ कर फैला दिया इससे पहले कि शोभा कुछ बोलती या कहती बबलू ने अपनी जीभ शोभा की चूत के छेद में टिका दी और शोभा की चूत की भगनासा को चाटने लगा

शोभा जल बिन मछली के तरह तडफ उठी उसकी कमर झटके खाने लगी

शोभा: ओह अहह चोद्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्रूऊऊऊ उईईईईईईईईईईईईई माआआआआआआआ

बबलू ने शोभा की गान्ड को पकड़ कर पूरा फैला दिया और अपनी ज़ुबान से शोभा की गान्ड के छेद को कुरेदने लगा पूरे घर में शोभा की अहह अहह सीईईईईईईईईईईईईई सीईईईईईईईईईईईईईईईई की सिसकारियाँ गूँज रही थी शोभा ने किसी तरह बबलू को धक्का दे कर आगे हो गयी और उसकी सारी अपने आप नीचे हो गयी शोभा दीवार के साथ सट कर अपनी साँसों को संभालने में लग गयी बबलू के होंठो पर शोभा की चूत का पानी लगा हुआ था

शोभा: देखो बस तीन और महीने इंतजार कर लो फिर हम दोनो माँ बेटी हमेशा के लिए तुम्हारी है जाओ मूँह हाथ धो लो और नाश्ता कर लो

बबलू बेचारा उदास हो कर रह गया उस्दिन के बाद से उसे स्टेशन पर सुसमा भी नज़र नही आई थी नाश्ता करने के बाद बबलू नीचे आकर सो गया दोपहर के 2 बजे रेणु स्कूल से आ गयी थी शोभा बबलू को नीचे दोपहर के खाने के लिए बोल गयी जब बबलू ऊपर आया तो रेणु शोभा से किसी बात के लिए ज़िद कर रही थी उनकी बातें सुनता हुआ बबलू डाइनिंग टेबल पर आकर बैठ गया

बबलू: अर्रे क्या बात है किस बात को लेकर बहस चल रही है

शोभा: देखो ना कह रही है आज इसकी सहेली का बर्तडे की पार्टी है

बबलू:तो जाने दो ना

शोभा:जाने तो दूं पर रात के 8 बजे की बात कर रही है इतनी रात को कैसे जाने दूं

बबलू: हां ये बात भी सही है

तभी फोन के बेल बज उठी शोभा ने फोन उठाया फोन महक का था

महक:हेलो आंटी रेणु है आज मेरा बर्तडे है और में उसे पार्टी दे रही हूँ आप प्लीज़ उसे भेज देना

शोभा:पर इतनी रात को कैसे भेज दूं

महक:आंटी चाहे तो आप भी साथ आ जाओ नही तो किसी के साथ ही भेज दो ज़रा मेरी बात तो कराना रेणु से

शोभा:हां एक मिनिट रेणु तुम्हारा फोन है

और रेणु उठ कर फोन सुनने चली गयी जब थोड़ी देर बाद रेणु वापिस आई तो उसके बोलने से पहले ही शोभा बोल पड़ी

शोभा:ठीक है चली जाना पर साथ में बबलू को लेकर जाना

रेणु: खुश होते हुए थॅंक यू मोम और हां माँ कल से हमारी भी छुट्टियाँ शुरू हो रही हैं
,,,,,,,,,,,,,,,,,

दूसरी तरफ सीमा अपना सारा काम निपटा चुकी थी और अपने रूम में बेड पर लेटी हुई थी उसके फेस पर शिकन थी वो सोच रही थी क़ी जो उसने किया ठीक किया है अमित (सीमा का पति) मेरा कितना ख्याल रखते हैं और में उनके साथ धोखा कर रही हूँ पर में भी कब तक अपनी तमन्नाओं को मार -2 कर जीती रहूंगी सीमा इसी अधेड़ बुन में लगी हुई थी उसे समझ नही आ रहा था क्या सही है और क्या ग़लत सीमा इन्ही बातों को सोचते -2 सो गयी जब उसकी नींद खुली तो शाम के 5 बज चुके थे सीमा ने शाम को चाइ बना कर सब को दी और अमन के रूम में जाकर उसे बोला अमन में मार्केट जा रही हूँ तुम भी साथ चलो कुछ समान खरीदना है अमन तैयार होकर सीमा के साथ घर से निकल गया और सीमा मार्केट पहुँच कर घर का समान और सब्जयां खरीदने लगी जब सीमा और अमन घर वापिस आने लगे तो सीमा कुछ सोच कर बोली अमन एक काम करो ये पैसे लो और मेडिकल की दुकान से वियाग्रा की टॅब्लेट्स ले आ

अमन: वियाग्रा ये किस चीज़ की मेडिसिन है

सीमा; पहले लेकर तो आ घर जाकर बताती हूँ

अमन पैसे लेकर मेडिकल स्टोर पर वियाग्रा लेने चला गया फिर दोनो घर की तरफ चल पड़े शाम ढल चल चुकी थी सर्दियों में अंधेरा जल्दी छा गया था

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

दूसरी तरफ रेणु और बबलू दोनो तैयार होकर रात के 7 बजे घर से निकल पड़े आज पहली बार रेणु बबलू के साथ अकेली जा रही थी रेणु बहुत खुश थी पर बबलू का मूड उखड़ा हुआ था जब रेणु और बबलू महक के घर पहुचे तो गेट महक की माँ मीना ने खोला और उन्हे अंदर आने को कहा

रेणु: नमस्ते आंटी जी

मीना: नमस्ते बेटा

मीना वैसे तो यूपी की ही रहने वाली थी लेकिन उसने अपने शुरू के कई साल पंजाब में गुज़ारे थे जिसका असर उसकी भाषा में सॉफ दिखता था

मीना:होर सूनाओ की हाल है

रेणु:जी ठीक हूँ महक कहाँ है

मीना:ऊपर ही अपने रूम में अभी बुलाती हूँ

और मीना महक को आवाज़ लगाने लगी महक नीचे आ गयी और रेणु ने साथ लिया हुआ गिफ्ट देते हुए उसे बर्तडे विश किया बबलू ने भी उसे विश किया थोड़ी देर बाद कुछ और लोग उनके घर पर आ गये पार्टी शुरू हो चुकी थी सब एक दूसरे से बात कर रहे थे रेणु महक के साथ बिज़ी थी बबलू एक कोने में सोफे पर बैठ रेणु और उसकी सहेलियों के जिस्मो को आँखों से नाप रहा था तभी मीना हाथ में कॉफी की ट्रे लेकर बबलू के सामने आई और झुक कर अमन को कॉफी देने लगी

मीना ने सलवार कमीज़ पहना हुआ था जैसे ही मीना झुकी उसका दुपट्टा कंधे से सरक गया और उसकी बड़ी-2 चुचियाँ बबलू की आँखों के सामने आ गयी 38 साइज़ की चुचियाँ ब्लॅक कलर के ब्रा में कसी हुई थी और बाहर आने को मचल रही थी मीना जल्दी से सीधे हो गयी और मन में बबलू को गाली देते हुए कह रही थी साला अपनी माँ की उमर की औरत पर भी बुरी नज़र रखता है कैसे गंदी नज़र है और मीना कॉफी देकर चली गयी धीरे-2 सभी लोग जाने लगे अब रेणु और बबलू ही बचे थी रात के 8:00 बज रहे थे बाहर ठंडी हवा चल रही थी

रेणु:अच्छा आंटी जी हम भी चलते हैं

मीना:अर्रे रूको बेटा हमें भी बाज़ार से कुछ समान लेना है हम भी साथ चलते हैं

उसके बाद महक उसकी माँ मीना रेणु और बबलू के साथ घर लॉक करके निकल गये रास्ते में चलते-2 रेणु मीना आंटी से उसके पति के बारे में पूंछ रही थी मीना का हज़्बेंड भी गवरमेंट एंप्लायी था और अक्सर सरकारी काम से कई-2 दिन आउट ऑफ स्टेशन रहता था कई सालों की जिंदगी के बाद उसकी सेक्स लाइफ ना के बराबर रह गयी थी मीना का एक लड़का और एक लड़की थी लड़का जो कि बोरडिंग स्कूल में था चारो ने बस स्टॅंड पहुँच कर लोकल बस पकड़ ली छुट्टी का टाइम था इसीलिए बस में बहुत भीड़ थी सबसे पहले रेणु बस में चढ़ि फिर महक उसके बाद मीना और आख़िर में बबलू बस में चढ़ा बस एक दम भरी हुई ही मीना उँची कद काठी की औरत थी ना तो पतली थी और ना ही बहुत ज़यादा मोटी पर उसका बदन भरा पूरा था पेट पर चर्बी भी थी पर बहुत ज़्यादा नही गान्ड बाहर कीतरफ निकली हुई थी बबलू को ऐसी औरतें बहुत पसंद थी जिनकी गान्ड बड़ी हो बबलू मीना के पीछे जाकर खड़ा हो गया और अपने लंड जो अभी खड़ा नही था मीना की गान्ड पे सलवार के ऊपर से धीरे-2 रगड़ने लगा


मीना को उसी समय पता चल गया कि ये लड़का एक दम चोदू किस्म का है मीना थोड़ा आगे होना चाहा पर आगे जगहा नही थी अब मीना कुछ नही कर सकती थी वो बस सोच रही थी जल्दी से उसका स्टॉप आ जाए और वो उतर जाए थोड़ी ही देर में बबलू का लंड एक दम तन कर खड़ा हो गया और आगे खड़ी मीना की गान्ड की दरार में रगड़ खाने लगा बबलू मीना से एक दम चिपक कर खड़ा हो गया बबलू के पीछे भी बहुत भीड़ थी मीना बींच में फँस गयी थी बबलू ने चारो तरफ देख कर धीरे से अपना हाथ नीचे करके मीना की कमीज़ के पल्ले को ऊपर उठा दिया और अपना लंड सीमा की सलवार के ऊपर से उसकी गान्ड की दरार में फँसा दिया मीना के पैर काँपने लगे मीना ने नीचे पैंटी नही पहनी हुई थी लंड का सुपाडा बबलू की पेंट के अंदर से मीना की गान्ड के छेद पर सलवार के ऊपर जा टिका मीना के जिस्म में मस्ती की लहर दौड़ गयी वो ना चाहते हुए भी गरम होने लगी थी सीमा ने सर्दी होने के कारण शॉल ओढ़ रखी थी बबलू ने अपना हाथ मीना की कमर पर रख दिया मीना को गुस्सा भी आ रहा था और हैरानी भी हो रही थी कि इतनी सी उम्र में इतनी हिम्मत कि अपनी माँ की उम्र की औरत के साथ ऐसी हरकतें कर रहा है


बबलू ने अपना हाथ बढ़ा कर मीना के पेट पर रख दिया जिसके ऊपर शोल्ल थी और धीरे-2 अपना हाथ ऊपर लेजाने लगा बबलू नीचे से हल्के-2 धक्के मार रहा था जैसे ही बबलू ने झटका मारा बबलू का लंड सरक कर मीना की सलवार के ऊपर से उसकी चूत के होंठों पर रगड़ खा गया मीना की आँखें बंद हो गयी उसके बदन में करेंट की लहर दौड़ गयी अपनी अधेड़ उम्र की चूत पर जवान लंड की दस्तक पा कर उसकी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया बबलू पेट से हाथ हटा कर नीचे ले गया और अपने लंड को पेंट के ऊपर से पकड़ कर मीना की गान्ड पर सलवार के ऊपर से रगड़ने लगा बबलू ने झुक कर धीरे से मीना के कान में कहा आंटी बहुत मज़ा आ रहा है ज़रा सी टाँगें खोल लो ना मीना की जांघे आपस में सटी हुई थी वो नही चाहती थी कि उसका लंड उसकी चूत तक पहुँचा पर कई मिनिट से गान्ड के छेद पर रगड़ खा रहे बबलू के लंड ने मीना को एक दम गरम कर दिया था उसके पैर ढीले पड़ चुके थे और अपने आप ही उसकी जांघे खुल गयी बबलू ने अपना हाथ मीना की गान्ड पर रख दिया और धीरे उसकी गान्ड को सहलाने लगा फिर बबलू ने बीच वाली उंगली को मीना की गान्ड की दरार में डाल कर गान्ड के छेद को धीरे-2 कुरेदने लगा मीना की साँसें तेज़ी से चलने लगी जांघे खुल चुकी थी

बबलू ने मोके का फ़ायदा उठाते हुए अपने लंड को पेंट के ऊपर से पकड़ा और उसके हाथ की एक उंगली को गान्ड के छेद से सहलाते हुए उसकी चूत की तरफ बढ़ने लगा और चूत के होंठो को फैला कर बबलू की उंगली सीधा उसकी चूत के छेद पर जा टकराई बबलू को चूत के छेद का आंदज़ा होते ही बबलू ने अपने लंड को वहाँ पर टिका दिया और हाथ को फिर से सीमा की शॉल के अंदर पेट पर रख दिया और धीरे-2 ऐसे ही धक्के लगाने लगा जैसे कि वो बस चलने के कारण हिल रहा हो


मीना की चूत से पानी बह कर उसकी सलवार को भीगोने लगा था सीमा की आँखें बंद थी ना चाहते हुए भी उसे बहुत मज़ा आ रहा था थोड़ी देर बाद बबलू ने अपना लंड हाथ मे लिया और हाथ नीचे लेजा कर उसके चुतड़ों के नीचे से उसकी चूत पर रख दिया और उसकी चूत के छेद को उंगलियों से सहलाने लगा बबलू और रेणु का स्टॉप नज़दीक आ चुका बबलू थोडा सा पीछे हट कर खड़ा हो गया और रेणु और बबलू अपने स्टॉप पर उतर गये बबलू रेणु को घर छोड़ कर अपने ऑफीस स्टेशन के लिएनिकल गया


दूसरी तरफ सीमा घर पर सब लोग खाना खा चुके थे रात के 9 बज चुके थे सीमा के ससुर ने सीमा को कहा बहू हम ज़रा गली में टहल कर आते हैं आज खाना कुछ ज़्यादा ही हो गया और सीमा के सास ससुर बाहर टहलने के निकल गये सीमा झूठे बर्तन उठा कर किचन में रख रही थी अमन भी सीमा की मदद कर रहा था सीमा बर्तन सॉफ करने लगी अमन वहीं किचन के सामने बैठा सीमा को देख रहा था सीमा ने सलवार और ऊपर एक लंबी सी टी-शर्ट पहन रखी थी सीमा ने मूड कर अमन की तरफ देखा अमन ने नज़रें झुका ली सीमा मुस्कुराने लगी और बर्तन सॉफ करके हाथ पूंछ कर अमन के पास आकर खड़ी हो गयी

सीमा: क्या देख रहे थे चोरी-2

अमन:हड़बड़ाता हुआ) कुछ नही

सीमा: बस थोड़ा सा और इंतजार कर लो और सीमा के होंठो पर कामुक मुस्कराहट आ गयी

seema:ahhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh aur seema paglon ki trahn aman ke hotno ko chusne lagi phir se seema ke kamar peeche ki taraf gaye aur isbaar dono ne teji se apni kamar ko Dhakka diya lund fatch ke awaz ke sath choot ke andar sama gaya seema ke poore jism mein masti ke lahar doud rahi thee seema ne aman ko apni bahon mein bheenche hue sedha let kar aman ko apne oopar kheench liya ab seema aman ke neeche letihui thee aman seema ke jaanghon ke beech leta hua tha seema ne apni jaangho ko phaila kar aman ke kamar par laapet liya aur apne dono hathson se apni nighty ki stripes ko apne kandhon se sarka kar apni bahon se nikal diya aur nighty chuchiyon se neeche kar lee seema ki 38 size ke chuchiyaan ab aman ke samane thee aman ek tak use ghoore jar aha tha seema man mein sochane lagi ab is anadi ko chuchiyon se khelana bhee sikhana padega seema ne aman ka ek hath pakad kar apni ek chuchi par rakh diya aur apne hath ko aman ke hath par dabane lagi amna seema ki chuchi ko dabane laga seema ne apna hath aman ke hath se hata diya aur aman ke sar ke peeche hath lejakr kar use apne doosri chuchi par jhuka diya aman seema ke ankhon mein dekhane laga jaise pooch raha ho ab kiya karon par seema ne aman ke sar ko aur jhuka diya aur aman ke honth seema ke doosri chuchi ke nipple par ja lage
seema:siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii umhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh
aman ko ab tak samajh aa chukka tha ki uske kiya karana hai aman ne apna mooahn khol kar seema ke chuchi ke nipple mooahn mein le liya aur chusne laga seema ne neeche apni kamar hilani chalu kar dee seema ke choot mein aag badti ja rahi thee seema ko ye bhee dar tha ki aman kahin jaldi na jhar jaye par ab aman ke liye rukana na munkin tha aman bhee apnelund ko andar bahar Karne laga jaise hee aman apna lund bahar nikalta seema apni gaanD ko oopar ki taraf uchalti aur oopar se aman apni kamar ka poora jor laga deta lund fatch-2 ki awaz se andar bahar hone laga 6-7 dhakon ke baad aman ko laga jise uske lund se kooi cheeznikalne wali haye aur do teen dhakon ke baa daman ke lund ne seema ke choot mein veery ki bochar karni shuru kar deee aur aman seema ke oopar ludak gaya aman ko jhrta dekh seema ne neeche se teji se apni gaanD uchali shuru kar dee aur adhe minute mein hee 10-12 dhakon ke sath seema ke choot ne bhee pani chod diya seema aman se chipak gaye uski tangen aman ke kamar par jhakad gaye chuchiyaan aman ke chest mein dhans gaye seema ke chahre par santushti ke bhaav ubhar aye thee uske chahre par jo muskan thee aman ne kai salon baad dekhi thee seema ke baal uske face bikhre hue thee aur uske hontho lipstick phaili hui thee seema ne bade pyar se aman ke face ko apne hathon mein liya aur uske hontho par apne honth rakh diye aman ne jee bhar ke seema ke hontho ko chusa lund dheela pad gaya aur choot se bahar aa gaya aman seema ke bagal mein ludak gaya aur let gaya seema ne rajai ko hatya to dekha seema ke jhanten aman aur uske choot ke pani se bheegi hui thee poori choot par kam ras laga hua tha seema ne pass pade kapde se apne choot aur jhanton ko saaf kiya aur phir aman ke lund ko pakad kar uske lund aur golyon ko saaf kiya aur phir se rajai odh lee donn ne ek doosre ki bahon mein sama gaye seema to chathi thee ki wo sari raat aman se chudati rahe par wo janti thee ki ye aman ka first time hai aur agar wo phir se pahle jhad gaya to mein adhuri reh jaaungee isliye usne aaj ke liye itna hee kafi hey soch kar so gaye aur aman bhee apna face seema ke naram chuchiyaan mein chupa kar so gaya agli subah seema ki neend khuli to 6 baj chuke seema ne ankhen kholi aur dekha seema ke sath aman ke sath chipka hua tha seema ke hilane se aman bhee uth gaya seema ne time dekha to 6 baj chuke thee
seema: uthate hue) pita jee aur maa jee uth gaye honge
aur seema ne uth kar almari se ek doosri nighty nikali jo ki cream colour ki thee aur wo lekar bathrrom mein chali gaye jab seema bathroom se bahar aye to aman wahan se apne room mein ja chukka tha seema kitchen mein chali gaye aur chai banana lagi aur chai bana kar usne chai apne saas sasur ko dee aur phir se kitchen mein aakar ek bada sa glass doodh lekar aman ke room mein gaye aman abhi naha kar bahar nikala tha seema ne doodh ko table par rakha aur aman se boli doodh pee lena thanda ho jayega seema ki nazren aman ke gore badan ka jayza lerahi thee

aman: doodh par mein to subah chai peeta hun
seema: apne chahre par katil muskaan let hue) tumhen ab doodh hee peena chahe kitni mehant karte ho ye tumhari sehat ke liye jaroori hai
aman sharma gaya aur sar jhuka kar apne kapdenikalne laga
seema man mein soch rahi thee ki aman kitna bhola hai ab bhee sharma raha hai aur seema bahar kitchen mein aa gaye aur nasta taiyaar Karne lag gaye
doosri taraf bablu abhee -2 ghar wapis aya tha Renu school ja chuki thee bablu raat bhar station par hee sota raha kyonki kaam jyada nahi tha bablu fresh hokar oopar chala gaya shobha kitchen mein bablu ke liye nasta thali mein daal rahi thee bablu ka aaj choot choden ka bahut man tha bablu ne peeche jakar shobha ke chuchiyon ko pakad kar masal diya
shobha:ahhhhhhhhhhh kiya kara raho ho chode mujhe yaad hai na hamen Renu ke samane kasam khai hai
bablu: mein koi kasam wasam nahi janta
aur bablu ghutno ke bal neeche baith gaya aur ek hee jhatke mein shobha ke saree aur peticote ko oopar utha diya aur dono hathon se shobha ke chutron ko pakad kar phaila diya isse pahle ki shobha kuch bolti ya kehthi bablu ne apni jeebh shobha ke choot ke ched mein tika dee aur shobha ke choot ke bhangass ko chatne laga
shobha jal bin machli ke tarah tadph uthi uski kamar jhatke khane lagi
shobha: ohhhhhhhhhhhhhh ahhhhhhhhhhhhhhhhh chodrrrrrrrrrrrrroooooooo uiiiiiiiiiiiiiii maaaaaaaaaaaaaaaa
bablu ne shobha ke gaanD ko pakad kar poora phaila diya aur apni juban se shobha ki gaanD ke ched ko kuredane laga poore ghar mein shobha ki ahhhhhh ahhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiii siiiiiiiiiiiiiiiiii ki siskaryan gunj rahi thee shobha ne kisi tarah bablu ko dakha de kar aage ho gaye aur uski saree apne aap neeche ho gaye shobha diwar ke sath sat kar pani sanson ko sambhalne mein lag gaye bablu ke hontho par shobha ke chot ka pani laga hua tha
shobha: dekho bus teen aur mahine intjaar kar lo phir hum dono maa beti hamesha ke liye tukhari hai jao mooahn hath dho lo aur nasta kar lo
bablu bechara udass ho kar reh gaya usdin ke baad se use station par susma bhee nazar nahi aye thee nasta Karne ke baad bablu neeche aakar so gaya dopahar ke 2 baje Renu school se aa gaye thee shobha bablu ko neeche dopahar ke khane ke liye bol gaye jab bablu oopar aya to Renu shobha se kisi baat ke liye zidd kar rahi thee unki baten suntan hua bablu dinning table par aakar baith gaya
bablu: arre kiya baat hai kis baat ko lekar behas chal rahi hai
shobha: dekho na keh rahi hai aaj iski sehali ka birthday ki party hai
bablu:to jane do na
shobha:jaen to doon par raat ke 8 baje ke baat kar rahi hai itni raat ko kaise jane doomn
bablu: haan ye baat bhee sahi hai
tabhi phone ke bell baj uthi shobha ne phone uthaayaa phone mehak ka tha
mehak:hello aunty Renu hai aaj mera birthday hai aur mein use party de rahi hoon aap please use bej dena
shobha:par itni raat ko kaise bhej doon
mehak:aunty chhae to aap bhee sath aa jao nahi to kisi ke sath hee bej do jara mere baat to Karne Renu se
shobha:haan ek minute Renu tumhara phone hai
aur Renu uth kar phone sunane chali gaye jab thodi der baad Renu wapis aye to uske bolane se pahle hee shobha bol padi
shobha:theek hai chali jana par sath mein bablu ko lekar jana
Renu: kush hote hue thanku mom aur haan man kal se humari bhee chuttiyaan shuru ho rahi hain
doosri taraf seema apna sara kaam nipta chuki thee aur apne room mein bed par leti hui thee uske face par sikan thee wo soch rahi thee ky jo usne kiya theek kiya hai amit (seema ka pati) mera kitna khyal rakhte hain aur mein unke sath dhokha kar rahi hoon par mein bhee kab tak apni tamnaon ko maar -2 kar jeeti rahungee seema ise adhed bun mein lagi hui thee use samajh nahi aa raha tha kiya sahi hai aur galat seema ise baton ko sochte -2 so gaye jab uski neend khuli to shaam ke 5 baj chuke thee seema ne shaam ko chai bana kar sab ko dee aur aman ke room mein jakar use bola aman mein market ja rahi hoon tum bhee sath chalo kkuch samman khardeena hai aman taiyaar hokar seema ke sath ghar se nikal gaya aur seema market phunch kar ghar ka samma aur sabjyan khardeene lagi jab seema aur aman ghar wapis aane lage to seema kuch soch kar boli aman ek kaam karo ye pasie lo aur medical ki dukan se vigra ki tablets le aa
aman: vigra ye kis cheez ki medicine hai
seema; pahle lekar to aa ghar jakar batati hun
aman pasie lekar medical store par vigra lene chala gaya phir dono ghar ki taraf chal pade shaam dhal chal chuki thee sardyon mein andhera jaldi chaa gaya tha

doosri taraf Renu aur bablu dono taiyaar hokar raat ke 7 baje gghar se nikal pade aaj pehali baar Renu bablu ke sath akeli ja rahi thee Renu bahut khush thee par bablu ka mood ukdha hua tha jab Renu aur bablu mehak ke ghar pahuche to gate mehak ki maa meena ne khola aur unhe andar aane ko kaha
Renu: namste aunty jee
meena: namste beta
meena waise to up ke he rehane wali thee lekin usne apne shuru ke kai saal Punjab mein gujare thee jiska asar uski basha mein saaf dikhta tha
meena:hor sunao ki haal hai
Renu:jee theek hun mehak kahan hai
meena:oopar hey apne room mein abhi bulti hun
aur meena mehak ko awaz lagane lagi mehak neeche aa gaye aur Renu ne sath liya hua gift dete hue use birthday wish kiya bablu ne bhee use wish kiya thodi der baad kuch aur log unke ghar par aa gaye party shuru ho chuki thee sab ek doosre se baat kar rahe thee Renu mehak ke sath busy thee bablu ek kone mein sofe par baith Renu aur uski sehlyon ke jismo ko ankhon se naap raha tha tabhi meena hath mein coffee ki tray lekar bablu ke samane aye aur jhuk kar aman ko coffee dene lagi meena ne salwar kameez pehana hua tha jaise hee meena jhuki uska dupta kandhe se sarak gaya aur uski badi-2 chuchiyaan bablu ke ankhon ke samane aa gaye 38 size ke chuchiyaan black colour ke bra mein kasi hui thee aur bahar aane ko machal rahi thee meena jaldi se seedhe ho gaye aur man mein bablu ko gali dete hue keh rahi thee saala apni maa ki umar ki aurat par bhee buri nazar rakhtha hai kaise gandi nazar hai aur meena coffe dekar chali gaye dheere-2 sabhi log jane lage ab Renu aur bablu hee bachhe thee raat ke 8:00 baj rahe thee bahar thandi hawa chal rahi thee
Renu:achha aunty jee hum bhee chalten hain
meena:arre ruko beta hamen bhee bazaar se kuch samman lena hai hum bhee sath chalte hain
uske baad mehak uski maa meena Renu aur bablu ke sath ghar lock karke nikal gaye raste mein chalte-2 Renu meena aunty se uske pati ke bare mein poonch rahi thee meena ka husband bhee govt employee tha aur aksar sarkari kaam se kai-2 din out of station retha tha kai salon ki jindgi ke baad uske sex life na ke barabar reh gaye thee meena ka ek ladka aur the jo ki boarding school mein tha char one bus stand pahunch kar local bus pakad lee chuti ka time the islliye bus mein bahut bheed thee sabse pahle Renu bus mein chadi phir mehak uske baad meena aur akhir mein bablu bus mein chadha bus ek dam bhari hui hee meena unchi kad kathi ki aura thee na to patli thee aur na hee bahut jayada moti par uska badan bhara pura tha pet par charbhi bhee the par bahut jyada nahi gaanD babhar kitaraf niakli hui thee bablu ko aise aurten bahut pasand thee jisnki gaanD badi ho bablu meena ke peeche jakar khada ho gaya aur apne lund jo abhi khada nahi the meena ki gaanD pe salwar ke oopar se dheere-2 ragadne laga meena ko usi samane pata chal gaya ki ye ladaka ek dam chodo kism ka hai meena thoda aage hone chaha par aage jagaha nahi thee ab meena kuch nahi kar sakti thee wo bus soch rahi thee jaldi se uska stop aa jaye aur wo utar jaye thodi hee der mein bablu ka lund ek dam tan kar khada ho gaya aur aage khadi meena ke gaanD ki daraar mein ragad khane laga bablu meena se ek dam chipak kar khada ho gaya bablu ke peeche bhee bahut bheed thee meena beench mein phans gaye thee bablu ne charo taraf dekh kar dheere se apna hath neeche karke meena ke kameez ke palle ko ooer utha diya aur apna lund seema ke salwar ke oopar se uski gaanD ke darra mein phansa diya meena ke pair kanpane lagee meena ne neeche painty nahi pehani hui thee lund ka supaaDaa bablu ke pent ke andar se meena ke gaanD ke ched par salwar ke oopar ja tika meena ke jism mein masti ke lehar doud gaye won a chahte hue bhee garam hone lagi thee seema ne sardi hone ke karan shol oodh rakhi thee bablu ne apna hath meena ki kamar par rakh diya meena ko guss bhee aa raha tha aur heirani bhee ho rahi thee ki ittni se umr mein itni himmat ke apni maa ki umr ke aurat ke sath asie harkten kar raha hai bablu ne apna hath badha kar meena ke pet par rakh diya jiske oopar showl thee aur dheere-2 apna hath oopar lejane laga bablu neeche se halke-2 dhakke maar raha tha jaise hee bablu ne jhatka mara bablu ka lund sarak kar meena ke salwar ke oopar se uski choot ke honthon par ragad kha gaya meena ki ankhen band ho gaye uske badan mein current ke lehar doud gaye apni adhed umr ki choot par jawan lund ke dastak paa kar uski choot ne pani chodna shuru kar diya bablu ne pet se hath hata kar neeche le gaya aur apna lund ko pent ke oopar se pakad kar meena ke gaanD par salwar ke oopar se ragadne laga bablu ne jjhuk kar dheere se meena ke kaan mein kaha aunty bahut maja aa raha hai jara se tangen khol lo na meena ke jaanghe aapas mein sati hui thee wo nahi chathi thee ki uska lund uski choot tak phunche par kai minute se gaanD ke ched par ragad kha rahe bablu ke lund ne meena ko ek dam garam kar diya tha uske pair dheele pad chuke thee aur apne aap hee uski jhagen khul gaye bablu ne apna hath meena ke gaanD par rakh diya aur dheere uski gaanD ko sehalne laga phir bablu ne beeche wali ungli ko meena ke gaanD ki darra mein daal kar gaanD ke ched ko dheere-2 kuredane laga meena ke sansen teji se chalne lagi jaanghe khul chuki thee bablu ne moke ka fayda uthate hue apne lund ko pent ke oopar se pakada aur uski hath ki ek ungli ko gaanD ke ched se sehlet hue uski choot ke taraf badhane laga aur choot ke hotno ko phaila kar bablu ki ungli seedha uski choot ke ched par ja takaraaie bablu ko choot ke ched ka andzaa hotee hee bablu ne apne lund ko wahan par tika diya aur hath ko phir se seema ke showl ke andar pet par rakh diya aur dheere-2 asie dhakke lagane laga jaise ki wo bus chalne ke karan hill raha ho meena ki choot se pani beh kar uski salwar ko bheegone laga tha seema ke ankhen band thee na chahte hue bhee use bahut majja aa raha ttha thodi der baad bablu ne apna lund hath liya aur hath neeche lejakr uski chutron ke neeche se uski choot par rakh diya aur uski choot ke ched ko ungliyon se sahlane laga bablu aur Renu ka stop nazdeek aa chukka bablu thoda sa peeche hat kar khada ho gaya aur Renu aur bablu apne stop par utar gaye bablu Renu ko ghar chod kar apne office station ke liyenikal gaya
doosri taraf seema ghar par sab log khana kha chuke thee raat ke 9 baj chuke thee seema ke sasur ne seema ko kaha bahu hum jara gali mein tehal kar aate hain aaj khana kuch jyada hee ho gaya aur seema ke saas sasur bahar tehalne ke nikal gaye seema jhoote bartan utha kar kitchen mein rakh rahi thee aman bhee seema ke madad kar raha tha seema bartan saaf Karne lagi aman wahin kitchen ke samane baitha seema ko dekh raha tha seema ne salwar aur oopar ek lambi se T-shirt pehan rakhi thee seema ne mud kar aman ke taraf dekha aman ne nazren jhuka lee seema mukarane lagi aur bartan saaf karke hath poonch kar aman ke pass aakar khadi ho gaye
seema: kiya dekh rahe the chodi-2
aman:hadbdata hua) kuch nahi
seema: bus thoda sa aur intjaar kar lo aur seema ke hontho par kamuk muskrahat aa gaye

Nitin
Pro Member
Posts: 166
Joined: 02 Jan 2018 16:18

Re: दास्तान ए चुदाई (माँ बेटी बेटा और किरायेदार)

Unread post by Nitin » 05 Feb 2018 10:35

अमन सर झुकाए सोफे पर बैठा था सीमा को उसके भोले पन पर प्यार आ रहा सीमा भी अमन का लंड चूत के अंदर लेने के लिए तडफ रही थी सीमा अमन की जाँघो के ऊपर दोनो तरफ पाँव करके घुटनो के बल सोफे पर बैठ गयी और अमन को अपनी चुचियाँ से लगा लिया और अमन के बालों को अपनी उंगलियों से सहलाने लगी अमन का लंड कुछ ही पलों में खड़ा हो गया और सीमा की चूत पर सलवार के ऊपर से रगड़ खाने लगा सीमा एक दम मस्त हो गये उसने अमन की तरफ देखा सीमा की आँखों में वासना का नशा भरा हुआ था अमन के हाथ खुद-ब खुद सीमा की चुचियों पर पहुँच जाते है और वो सीमा की चुचियों को ब्रा और टीशर्ट के ऊपर से सहलाने लगता है

सीमा: ये देख कर बहुत खुस होती है और मन में सोचती है कि उसने अमन को अपना दीवाना बना लिया है सीमा अपना हाथ नीचे ले जाकर अपनी टी-शर्ट को पकड़ कर ऊपर कर देती है उसकी चुचियाँ ब्लॅक कलर की ब्रा में कसी हुई थी सीमा फिर अपने हाथ पीछे लेकर अपनी ब्रा के हुक्स खोल देती है और ब्रा के कप्स को पकड़ कर चुचियाँ से ऊपर उठा दिया सीमा की चुचियाँ ब्रा से बाहर आकर अमन की आँखों के सामने आ जाती है अमन अपने दोनो हाथों को सीमा की दोनो चुचियों पर रख कर उसकी चुचियों को मसलने लगा सीमा ने मस्ती में आँखें बंद कर ली और अपनी चूत को अमन के शॉर्ट्स के ऊपर से लंड पर रगड़ने लगी सीमा ने एक हाथ अमन के सर के पीछे लेजा कर अपना एक निपल अमन के मूँह के पास कर दिया अमन अब काफ़ी सीख चुका था उसने बिना देर किए निपल को मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया सीमा अहह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई ओह कर रही थी अमन अब पूरा मूँह खोल कर सीमा की चुचि अंदर लेकर चूसने लगा सीमा के निपल एक दम कड़क हो गये थे उसकी गोरी चुचियों में नसे सॉफ नज़र आ रही थी सीमा की चूत पानी छोड़ने लगी थी


सीमा जानती थी कि उसके सास ससुर कभी भी आ सकतें हैं सीमा ने अमन के फेस को अपने हाथों में लेकर ऊपर किया सीमा का निपल अमन के मुँह से बाहर आ गया और सीमा ने अमन के फेस को अपने हाथों में लेकर उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए फिर थोड़ी देर किस करने के बाद अपने होंठो को हटा कर अपने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा के हुक्स बंद कर लिए और टी-शर्ट को नीचे करके उठ कर खड़ी हो गये अमन सीमा को देख रहा था

सीमा:बॅस अभी इतना ही काफ़ी है

और सीमा किचन में जाकर दूध गरम करने लगी डोरबेल बजी अमन ने गेट खोला सीमा के सास ससुर

आ चुके थे और उनके आते ही सीधा अपने रूम में चले गयी अमन ने गेट बंद किया और अपने रूम

में आकर पढ़ने लगा सीमा ने दूध को ग्लास में डाल कर अपने सास ससुर के रूम में गयी और

उनको दूध देने के बाद सीधा अमन के रूम में आ एगये और दूध का ग्लास टेबल पर रखते हुए बोली

सीमा: अमन वो टॅब्लेट्स कहाँ है

अमन:जी मेरी पेंट के पॉकेट में है

अमन खड़ा हुआ और अपनी पेंट जो वो उतार चुका था में से वियाग्रा की टॅब्लेट्स निकाल कर सीमा को दे दी

सीमा: एक टॅब्लेट देते हुए इसे खा लो

अमन: पर मुझे क्या हुआ है

सीमा: ये तुम्हारे लिए है ये ताक़त की टॅब्लेट है

अमन ने चुप चाप टॅब्लेट खा ली और दूध पीने लगा सीमा अमन के रूम से बाहर आ गयी वो आज

जोरदार चुदाई के मूड में थी वो चाहती थी आज अमन उसे पूरे ज़ोर और ताक़त से चोदे आज वो खुल कर

अपनी गर्मी को शांत करना चाहती थी पर सीमा के सास ससुर का रूम बिल्कुल सीमा के रूम के बगल

में था सीमा कुछ सोचते हुए अपने सास ससुर के रूम में गयी सीमा का ससुर दूध पी रहा था

ससुर:क्या हुआ बेटी

सीमा:जी वो में आज ऊपर के रूम में सोने जा रही हूँ कई दिन हो गये में रोज सुबह लेट उठ रही

हूँ मेरे रूम में सुबह रोशनी का नामो निशान नही होता ऊपर सोउंगी तो रोशनी होने से जल्दी उठ

जाउन्गी और काफ़ी दिनो से मैने योगा भी नही किया और छत पर ही सुबह योगा कर लूँगी

ससुर:ठीक है बेटा पर अमन को भी साथ सुला लेना नही तो बेचारा रात भर डरता रहेगा

सीमा:जी पिता जी (और सीमा का दिल खुशी में नाचने लगा और सीमा बाहर आ गयी )

सीमा अपने दो मंज़िला घर की छत पर आ गयी छत पर एक बड़ा सा रूम था और साथ में अट्तच बाथरूम

भी था और रूम के आगे की तरफ बरामदा था सीमा ने छत पर पहुँच कर रूम का लॉक खोला और

अंदर रूम की लाइट ऑन करके थोड़ी बहुत सॉफ सफाई की बेड को ठीक किया इधर अमन को पढ़ते हुए आधा

घंटा हो चुका था वियाग्रा का असर होने लगा उसका लंड की नसे फूलने लगी और एक दम सख़्त हो गया था

अमन उठ कर बाहर सीमा के रूम में गया सीमा के रूम का डोर लॉक था अमन ने 3-4 बार डोर

नॉक किया पर कोई जवाब नही मिला अमन ने सीमा को किचन और हाल में देखा पर उसे सीमा कहीं

दिखाई नही दे रही थी अमन अपने रूम में आ गया अमन बेड पर लेट गया और सोचने लगा शायद मौसी

जल्दी सो गयी इसलिए वो कह रही थी कि अभी के लिए इतना ही काफ़ी है जब अमन सीमा की चुचियाँ सोफे पर

बैठा चूस रहा था तभी अमन का डोर नॉक हुआ अमन ने डोर खोला तो सामने सीमा खड़ी थी

सीमा: सो गये थे क्या

अमन: नही मौसी वो बस अभी लेटा ही था पर आप कहाँ थी मैने सोचा कि आप सो गयी हैं

सीमा: नही में ऊपर छत पर गयी थी आज ऊपर वाले रूम में सोएंगे तुम ऊपर चलो में अभी

आती हूँ और अमन ऊपर चला गया ऊपर छत पर टहलने लगा थोड़ी देर बाद सीमा ऊपर आ गयी उसके

हाथ में पानी से भरा जग था सीमा ने शॉल ओढ़ रखी थी सीमा अमन को देखते हुए सीधा रूम

में चली गयी अमन भी सीमा के पीछे आ गया सीमा ने जग को पास पड़े टेबल पर रखा और बाहर

चली गयी अमन वहीं डोर पर खड़ा देख रहा था सीमा ने सीडीयों पर लगे हुए दरवाजे को बंद कर

दिया ताकि कोई छत पर भी ना आ सके फिर सीमा अंदर आ गयी अमन बेड पर बैठा हुआ था सीमा ने

डोर बंद किया और अपनी शॉल को उतार पास पड़े टेबल पर फेंक दिया और अमन के पास आकर उसके कंधों

पर हाथ रख कर उसे बेड पर धकेल दिया और खुद उसके ऊपर लेट गयी और अमन के होंठो पर अपने होंठ

रख दिए अब वियाग्रा का असर अमन के सर चढ़ कर बोल रहा था उसका लंड एक दम टाइट हो चुका था उसे

महसूस हो रहा था जैसे उसका लंड अभी शॉर्ट्स को फाड़ कर बाहर आ जाएगा अमन का लंड सीमा के चूत

के ऊपर रगड़ खा रहा था सीमा ने अपनी टाँगे अमन की जाँघो के दोनो तरफ कर ली अमन ने भी

अपने हाथों से सीमा के चुतड़ों को सलवार के ऊपर से पकड़ लिया नरम मुलायम चुतड़ों का अहसास अमन

को बहुत अच्छा लग रहा था अमन ने सीमा के चुतड़ों को पकड़ कर मसलना चालू कर दिया सीमा को

मदहोशी छाने लगी सीमा अपने होंठ ढील छोड़ कर बबलू से अपने होंठ चुस्वा कर मज़ा ले रही थी सीमा

सीधे उठ कर बबलू की जाँघो पर बैठ गयी दोनो एक दूसरे की आँखों में देख रहे थे सीमा ने

अपनी टी-शर्ट को दोनो हाथों से पकड़ कर गले से निकाल कर उतार दिया सीमा के दूध के टॅंकर छोटी सी काले

रंग की ब्रा में समा नही पा रहे थे अमन के हाथ अभी भी सीमा की गान्ड को सहला रहे थे सीमा

ने अपने हाथ पीछे किए और अपनी ब्रा के हुक्स खोल कर ब्रा को निकाल कर नीचे फेंक दिया सीमा की 38

साइज़ की चुचियाँ उछल कर बाहर आ गयी निपल्स एक दम तने हुए थे सीमा ने अपने हाथ पीछे ले जाकर

अपनी गान्ड को पकड़े अमन के हाथों के ऊपर रख कर पकड़ा और अमन के हाथों को उठा कर अपनी

चुचियों पर रख लिया अमन लेटा-2 सीमा की चुचियों को प्यार से मसलने लगा अमन का लंड नीचे से

सलवार के ऊपर से सीमा की चूत पर लगा हुआ था सीमा मस्ती में आकर अपनी कमर हिलाने लगी


सीमा: अहह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईई और ज़ोर से मस्लो इनको अहह आज सारी अकड़ निकाल दो अपनी

मौसी की चुचियों की मसल मसल कर नराम्म्म्मममममम कर दूऊऊऊ अहह सीईईईईईईईईईईई

हान्ंनननननणणन् ऐसे हह पुर जोर्र्र्र्ररर सीईईई

अमन अब बेरहमी से अपनी मौसी सीमा की चुचियों को मस्ल रहा था सीमा अपनी कमर हिला कर बबलू के

लंड पर कपड़ों समेत अपनी चूत पर रगड़ रही थी सीमा ने अपने हाथों से पकड़ कर अमन की टी-शर्ट उतार

दी अब अमन के बदन पर सिर्फ़ शॉर्ट्स बचा था सीमा अमन के ऊपर से खड़ी हुई और अपनी सलवार का नाडा

खींच दिया सलवार ढीली पड़ गयी और सीमा के कूल्हों पर अटक गयी सीमा ने अपनी गान्ड को ज़रा सा

हिलाया और सीमा की सलवार सरकती हुई नीचे घुटनो पर आ गयी अमन आँखें फाड़-2 के सीमा की इस अदा को

देख रहा था सीमा ने आज अपनी चूत के बालों को सॉफ किया था और बिना बालों की सीमा की चूत एकदम

चिकनी लग रही थी सीमा बेड पर बैठ गयी सीमा ने अमन का हाथ पकड़ कर उसे खड़ा किया और उसे अपने

सामने लाकर उसका शॉर्ट्स खींच कर नीचे कर दिया जिसे सीमा ने पैरो से निकाल दिया सीमा बैठे-2 वही पर

लेट गयी सीमा की टाँगें बेड से नीचे लटक रही थी सीमा ने अमन को अपने ऊपर खींच लिया अमन

बहुत ज़्यादा उतेज़ित हो चुका था ऊपर आते ही अमन ने सीमा के एक निपल को मूँह में लेकर चूसना

चालू कर दिया और दूसरी चुचि को जोरों से मसलने लगा अमन का लंड सीमा के नाभि पर रगड़ खा रहा

था सीमा अहह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई कर रही थी सीमा की चूत पानी छोड़ने लगी थी


सीमा:अहह सीईईईईईईईईईईईईईई बस आब्ब्ब्बबब और बर्दास्त नही होताआ डाल दे अपना लंड मेरी चूत में

अमन सीमा के ऊपर से खड़ा हो गया और सीमा ने अपने पैरो से सलवार खींच कर निकाल कर नीचे

फेंक दी और बेड पर चढ़ कर लेट कर अपनी टाँगे खोल कर बेड पर लेट गयी अमन सीमा की जाँघो के

बीच आकर घुटनों के बल बैठ गया सीमा ने अपनी टाँगों को घुटनो से मोड़ कर ऊपर उठा लिया उसकी चूत

का छेद ऊपर की ओर हो गया सीमा ने अपने दोनो हाथों से अपनी चूत की फांकों को फैला दिया सामने

गुलाबी रंग का चूत का छेद था जो अमन पहली बार देख रहा था

सीमा:अहह ले घुसा दे अपनी मौसी की चूत में अपना लंड लगा दिया

aman sar jhukaaye sofe par baitha tha seema ko uske bhole pan par pyaar aa raha seema bhee aman ka lund choot ke andar lene ke liye tadph rahi thee seema aman ke jaangho ke oopar dono taraf paanv karke ghutno ke bal sofe par baith gaye aur aman ko apni chuchiyaan se laga liya aur aman ke balon ko apne ungliyon se sahlane lagi aman ka lund kuch hee palon mein khada ho gaya aur seema ke choot par salwar ke oopar se ragad khane laga seema ek dam mast ho gaye usne aman ke taraf dekha seema ke ankhon mein wasna ka nasha bhara hua tha aman ke hath khud-ba khud seema ke chuchiyon par phunch jate hai aur wo seema ke chuchiyon ko bra aur tshrit ke oopar se sahlane lagat hai
seema: ye dekh kar bahut khus hoti hai aur man mein sochti hai ke usne aman ko apna diwana bana liya hai seema apni hath neeche le jakar apni T-shirt ko pakad kar oopar kar deti hai uski chuchiyaan black colour ke bra mein kasi hui thee seema phir apne hath peeche lekar apne bra ke hooks khol deti hai aur bra ke cups ko pakad kar chuchiyaan se oopar utha diya seema ke chuchiyaan bra se bahar aakar aman ke ankhon ke samane aa jati hai aman apne dono hathon ko seema ke dodno chuchiyon par rakh kar uski chuchiyon ko maslane laga seema ne masti mein ankhen band kar lee aur apni choot ko aman ke shorts ke oopar se lund par ragadne lagi seema ne ek hath aman ke sar ke peeche lejakr apna ek nipple aman ke mooahan ke pass kar diya aman ab kafi seekh chukka tha usne bina der kiye nipple ko munh mein lekar chusna chalu kar diya seema ahhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ohhhhhhhhhhhhh kar rahi thee aman ab poora mooahn khol kar seema ka chuchi andar lekar chusane laga seema ke nipple ek dam kadak ho gaye thee uske gore chuchiyon mein nase saaf nazar aa rahi thee seema ke choot pani choden lagi thee seema janti thee ki uske saas sasur kabhee bhee
aa sakten hain seema ne aman ke face ko apne hathon mein lekar oopar kiya seema ka nipple aman ke munh se bahar aa gaya aur seema ne aman ke face ko apne hathon mein lekar uske hotno par apne honth rakh diye phir thodi der kiss Karne ke baad apne hontho ko hata kar apne hath peeche le jakar apni bra ke hooks band kar liye aur T-shirt ko neeche karke uth kar khadi ho gaye aman seema ko dekh raha tha
seema:bass abhi itna hee kafi hai

aur seema kitchen mein jakar doodh garam Karne lagi doorbell baj aman ne gate khola seema ke saas sasur

aa chuke thee aur wo aate hee seedha apne room mein chale gaye aman ne gate band kiya aur apne room

mein aakar paden laga seema ne doodh ko glass mein daal kar apne saas sasur ke room mein gaye aur

unko doodh dene ke baad seedha aman ke room mein aa gaye aur doodh ka glass table par rakhthe hue boli

seema: aman wo tablets kahan hai

aman:jee mere pent ke pocket mein hai

aman khada hua aur apni pent jo wo utar chukka tha mein se vigra ki tablets nikal kar seema ko de dee

seema: ek tabelet dete hue ise kha lo

aman: par mujhe kiya hua hai

seema: ye tumhare liye hai ye takat ke tabelet hai

aman ne chup chap tabelet kha lee aur doodh peene laga seema aman ke room se bahar aa gaye wo aaj

jordar chudi ke mood mein thee wo chathi thee aaj aman use pure jor aur takat se chode aaj wo khul kar

apni garmi ko shaant karna chathi thee par seema ke saas sasur ka room bilkul seema ke room ke bagal

mein tha seema kuch sochte hue apne saas sasur ke room mein gaye seema ka sasur doodh pee raha tha

sasur:kiya hua beti

seema:jee wo mein aaj oopar ke room mein sone ja rahi hun kai din ho gaye mein roj subah let uth rahi

hun mere room mein subah roshani ka namo nishan nahi hota oopar songee to rosani hone se jaldi uth

jaaungee aur kafi dino se maine yoga bhee nahi kiya aur chat par hee subbhe yoga kar loongee

sasur:theek hai beta par aman ko bhee sath sula lena nahi to bechara raat bhar darta rahega

seema:jee pita jee (aur seema ka dil khushi mein nachane laga aur seema bahar aa gaye )

seema apne do manjila ghar ke chat par aa gaye chat par ek bada sa room tha aur sath mein attch bathroom

bhee tha aur room ke aage ki taraf barmada tha seema ne chhat par phunch kar room ka lock khola aur

andar room ki light on karke thodi bahut saaf safai kee bed ko theek kiya idhar aman ko padte hue adha

ghanta ho chukka tha vigra ka asar hone laga uska lund ke nase phoolane lagi aur ek dam sakth ho gaya tha

aman uth kar bahar seema ke room mein gaya seema ke room ka door lock tha aman ne 3-4 baar door

knock kiya par koi jawab nahi mila aman ne seema ko kitchen aur haal mein dekha par use seema kahin

dikhai nahi de rahi thee aman apne room mein aa gaya aman bed par let gaya aur sochane laga shaayad mousi

jaldi so gaye isliye wo keh rahi thee ki abhee ke liye itna hee kafi hai jab aman seema ke chuchiyaan sofe par

baitha choos raha tha tabhi aman ka door knock hua aman ne door khola to samane seema khadi thee

seema: so gaye thee kiya

aman: nahi mousi wo bus abhee leta hee tha par aap kahan thee maine socha ke aap so gaye hain

seema: nahi mein oopar chhat par gaye thee aaj oopar wale room mein songee tum oopar chalo mein abhee

ati hun aur aman oopar chala gaya oopar chhat par tehalne laga thodi der baad seema oopar aa gaye uske

hath mein pani se bhara jug tha seema ne showl odh rakhi thee seema aman ko dekhte hue seedha room

mein chali gaye aman bhee seema ke peeche aa gaya seema ne jug ko pass pade table par rakha aur bahar

chali gaye aman wahin door par khada dekh raha tha seema ne seediyon par laga hue darwajah ko band kar

diya tanki koi chhat par bhee na aa saken phir seema andar aa gaye aman bed par baitha hua tha seema ne

door band kiya aur apni showl ko utar pass pade table par phenk diya aur aman ke pass aakar uske kandhon

par hath rakh kar use bed par dhakkel diya aur khud uske oopar let gaye aur aman ke hontho par apne honth

rakh diye ab vigra ka asar aman ke sar chadh kar bol raha tha uska lund ek dam tight ho chukka tha use

mahsoos ho raha tha jaise uska lund abhi shorts ko phad kar bahar aa jayega aman ke lund seema ke choot

ke oopar ragad kha raha tha seema ne apne tanggen aman ke jaangho ke dono taraf kar lee aman ne bhee

apne hathon se seema ke chutron ko salwar ke oopar se pakad liya naram mulaayam churon ka ahsaas aman

ko bahut achha laga raha tha aman ne seema ke chutron ko pakad kar maslna chalu kar diya seema ko

madhosi chane lagi seema apne honth dheel chod kar bablu se apne honth chuswa kar maja le rahi thee seema

seedhe uth kar bablu ke jaangho par baith gaye dono ek doosre ke ankhon mein dekh rahe thee seema ne

apni T-shirt ko dono hathon se pakad kar gale se nikal kar utar diya seema ke doodh ke tanker choti se kale

rang ke bra mein sama nahi pa rahe thee aman ke hath abhee bhee seema ke gaanD ko sehla rahe thee seema

ne apne hath peeche kiye aur apni bra ke hooks khol kar bra ko nikal kar neeche phenk diya seema ke 38

size ki chuchiyaan uchal kar bahar aa gaye nipples ek dam tane hue thee seema ne apne hath peeche le jakar

apni gaanD ko pakdhe aman ke hathon ke oopar rakh kar pakada aur aman ke hathon ko utha kar apni

chuchiyon par rakh liya aman leta-2 seema ki chuchiyon ko pyaar se maslne laga aman ka lund neeche se

salwar ke oopar se seema ke choot par laga hua tha seema masti mein aakar apni kamar hilane lagi

seema: ahhhhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiii aur jor se maslon enko ahhhhhhhhhhhh aaj sari akad nikal do apni

mousi ke chuchiyon kee masal masal kar narammmmmmmmm kar doooooooo ahhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiii

haannnnnnnnnn aise hhhhhhhhhhh poore jorrrrrrr seeeeeeeee

aman ab berehami se apni mousi seema ki chuchiyon ko masla raha tha seema apni kamar hila kar bablu ke

lund par kapdon samet apni choot par ragad rahi thee seema ne apne hathon se pakad kar aman ke T-shirt utar

dee ab aman ke badan par sirf shorts bacha tha seema aman ke oopar se khadi hui aur apne salwar ka nada

kheench diya salwar dheele pad gaye aur seema ke khulon par atak gaya seema ne apni gaanD ko jara sa

hiliya aur seema ki salwar sarkti hui neeche ghutno par aa gaye aman ankhen phad-2 ke seema ki is ada ko

dekh raha tha seema ne aaj apni choot ke balon ko saaf kiyat ha aur bina balon ke seema ke choot ekdam

chikni lag rahi thee seema bed par baith gaye seema ne aman ka hath pakad kar use khada kiya aur use apne

samane lakar uska shorts kheench kar neeche kar diya jise seema ne parion se nikal diya seema baithe-2 par

let gaye seema ke tanggen bed se neeche latak rahi thee seema ne aman ko apne oopar kheench liya aman

bahut jyada utejit ho chukka tha oopar ate hee aman ne seema k eek nipple ko mooahn mein lekar choosna

chalu kar diya aur doosri chuchi ko joron se maslne laga aman ka lund seema ke nabhi par ragad kha raha

tha seema ahhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii kar rahi thee seema ki choot pani choden lagi thee


seema:ahhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiii bus abbbbbb aur bardaast nahi hotaaa daal de apna lund meri choot mein

aman seema ke oopar se khada ho gaya aur seema ne apne parion se salwar kheench kar nikal kar neeche

phenk dee aur bed par chadh kar let kar apne tanngen khol kar bed par leat gaye aman seema ke jaangho ke

beech aakr ghutnon ke bal baith gaya seema ne apni tangon ko ghutno se mod kar oopar utha liya uski choot

ka ched oopar ki aur ho gaya seema ne apne dono hathon se apne choot ke phankhon ko phaila diya samane

gulabi rang ka choot ka ched tha jo aman pehali baar dekh raha tha

seema:ahhhhhhhhhhhhhh le ghusaa de apni mousi ke choot mein apna lund laga diya

Nitin
Pro Member
Posts: 166
Joined: 02 Jan 2018 16:18

Re: दास्तान ए चुदाई (माँ बेटी बेटा और किरायेदार)

Unread post by Nitin » 05 Feb 2018 10:35

अमन ने अपने लंड के चमड़ी को पीछे किया और सुपाडे को सीमा की चूत के छेद पर लगा दिया और सीमा

की जाँघो को पकड़ कर अपनी कमर को झटका दिया आधा लंड सीमा की चूत में समा चुका था

सीमा:अहह ओहसिईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई

और सीमा ने अमन को अपनी ऊपर खींच लिया अमन ने अपने लंड पर और ज़ोर डाला लंड चूत की दीवारों को

फैलाता हुआ पूरा अंदर चला गया अमन ने अपना एक हाथ सीमा की चुचि पर रख दिया और उसकी चुचि को

मसलने लगा और अपने होंठो को सीमा के होंठो पर रख दिया और धीरे-2 अपने लंड अंदर बाहर करने लगा

सीमा ने अपने दोनो के ऊपर रज़ाई खींच ली और अपनी टाँगों को अमन की कमर पर चढ़ा कर लपेट

लिया और दोनो एक दोसरे के बाहों में गुत्थम-गुत्था हो रही थी अमन जैसे ही अपना लंड धक्का लगाने के

लिए बाहर निकलता सीमा अपनी चूत को ऊपर की तरफ उछाल कर फिर से अमन का लंड चूत में ले लेती अमन

सीमा के होंठो पागलो की तरह चूस रहा था और सीमा ने अपना मूँह खोल कर ढीला छोड़ दिया सीमा

के हाथ अमन की गान्ड और पीठ को सहला रहे थी अमन का लंड पूरा जड तक अंदर बाहर हो रहा था

अमन ने धक्कों की रफ़्तार बढ़ा दी अब पूरे कमरे में सीमा की सिसकारियाँ और थप-2 की आवाज़ आ रही

थी सीमा भी पूरे जोश के साथ अपनी कमर ऊपर की तरफ उछाल कर अमन का लंड ले रही थी सीमा

पूरी तरह मस्त हो चुकी थी बबलू अपने दोनो हाथों से सीमा की चुचियों को मसल रहा था और कभी

उसके निपल्स को चूस्ता सीमा झड़ने के बिल्कुल करीब थी

सीमा;ओह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई अहह और जोर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर सीईईईईईई

फद्द्द्द्द्द्द्दद्ड डीईईईईईईईई अहह अहह सीईईईईईईईईईईईईईई

अमन पूरी ताक़त से सीमा की चूत में अपना लंड पेलने लगा फतच-2 ठप-2 की आवाज़ पूरे कमरे को

और कामुक बना रही थी सीमा पूरी ताक़त से अपनी चूत को ऊपर की ओर लंड पर पटक कर लंड अंदर ले

रही थी और उसकी चूत ने गरम पानी छोड़ दिया अमन भी तीन चार धक्कों के साथ सीमा की चूत में

झड गया और अपने वीर्य की बोछार सीमा की बच्चेदानी की दीवारों पर करने लगा अपनी बच्चेदानी और

चूत पर अमन के गरम वीर्य को महसूस करके सीमा का फेस एक दम खिल गाया अमन सीमा के ऊपर

लुंडक गया और सीमा उसके बालों को सहलाने लगी अमन उठ कर घुटनों के बल बैठ गया और अपना लंड

बाहर निकाला अमन देख कर हैरान था उसका लंड अभी भी वैसे ही खड़ा था अमन सीमा के बगल

में लेट गया सीमा उसकी तरफ करवट बदल कर लेट गयी और अमन के लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी

अमन पीठ के बल लेटा हुआ था सीमा उसके कंधे पर सर रख कर लेटी हुई उसके लंड के सुपाडे पर अपने

उंगलियों को हिला रही थी और बीच-2 में अमन की गोलाई को भी अपने हाथ से सहला रही थी अमन फिर

से गरम होने लगा था सीमा उसके ऊपर थोड़ा सा झुक गयी जिससे सीमा की चुचियाँ अमन के होंठो के

सामने आ गयी अमन सीमा की एक चुचि को मूँह में लेकर चूसने लगा सीमा अचानक से उठ कर

अमन की टाँगों के बीचे में आ गयी और उसके लंड के सुपाडे की चमड़ी को पीछे करके गुलाबी छेद

अपनी उंगलियों से सहलाने लगी फिर लंड पर झुक कर अपनी जीभ से अमन के लंड के सुपाडे को चाटने लगी

अमन के जिस्म में करेंट दौड़ गया उसे यकीन नही हो रहा था कि उसकी मौसी उसके लंड को अपनी जीभ से

चाट रही थी सीमा अपनी जीभ को अमन के लंड के सुपाडे के चारो तरफ घुमा कर चाट रही थी फिर

उसने लंड के सुपाडे को मूँह में ले लिया और सुपाडे को चूसने लगी अमन की मस्ती का कोई ठिकाना नही था

सीमा का सर तेज़ी से ऊपर नीचे हो रहा था और सीमा के होंठ अमन के लंड के सुपाडे पर कसे हुए थे

और अमन के लंड का सुपाडा आंदार बाहर हो रहा था सीमा अब आधे से ज़यादा लंड मूँह में लेकर

चूस रही थी और हाथ से अमन के आंडो को सहला रही थी सीमा ने अमन के लंड को मूँह से निकाल कर

अमन के आंडो को चाटना शुरू कर दिया अमन तो जैसे जन्नत की सैर कर रहा था सीमा फिर अमन के ऊपर लेट

गयी उसकी बड़ी-2 चुचियाँ अमन की छाती में धँस गयी थी सीमा ने अपने होंठो को अमन के होंठो पर

रख दिया अमन को सीमा के होंठो से अजीब सा नमकीन स्वाद आ रहा था पर थोड़ी ही देर में अच्छा लगने

लगा अमन के हाथ सीमा के चुतड़ों को थामे हुए थे और उसके चुतड़ों को मसल रहे थे और कभी फैला

कर उसकी गान्ड के छेद को उजागर कर रहे थी फिर सीमा सीधे खड़ी हो गयी और अमन को घुटनो के बल

बैठने को कहा अमन बेड पर घुटनो के बल बैठा हुआ था और सीमा बेड पर खड़ी होकर अपनी जाँघो को

चौड़ी करके अपनी चूत को अमन के मुँह पर लगा दिया

सीमा: अहह सीईईईईईईईईईईईईईई लीईईईईई चाआत लीईईई अपनी मौसीईईईईई का भोसड़ा

अहह

और अमन ने बिना स्कॉंच किए अपने मुँह सीमा की चूत पर लगा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा

सीमा की कमर झटके खाने लगी जैसे वो अमन के मूँह को चोद रही हो सीमा ने अमन के सर को

पकड़ कर अपनी चूत को उसके मूँह पर रगड़ने लगी और अमन अपने दोनो हाथों से सीमा के भगनासे को

फैला कर अपने मूँह में लेकर चूसने लगा सीमा अहह उम्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह सीईईईईईईईईईईईईईई

कर रही थी

सीमा:अहह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई हाआाआआं आईसीईईईई हीईईईई तुन्न्ञनननननननननणणन्

बहुत अच्छााआअ चूवस्ताआआअ हाईईईईईईईईईईईईईई उईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई अहह

और ज़ोर सीईईई चूस अहह लीईईई सारा पानी पीईईई अहह मेरा रजाआाआ

बेताआअ अपनी मोसुई की बुर कूऊऊऊ अहह

सीमा अब पूरी तरह से गरम हो चुकी थी सीमा ने अपनी चूत को अमन को मूँह से हटाया और बेड

पर दोनो हाथों और घुटनो के बल डॉगी स्टाइल में आ गये और आगे से झुक कर पीछे अपनी गान्ड को

ऊपर की तरफ कर ली जिसे सीमा की चूत बाहर की तरफ आ गयी

सीमा:चल पीछे आ जा और डाल दे अपना लंड मेरी चूत में और मुझे कुतिया की तरह चोद दे अमन उठ

कर सीमा के पीछे आ गया और घुटनो के बल बैठ कर अपने लंड को पकड़ कर सीमा की चूत के छेद पर

टिका दिया सीमा ने अपनी चूत को पीछे की ओर धकेला लंड का सुपाडा सीमा की चूत के अंदर चला गया

सीमा:अहह उम्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह बहुत मज़ा आआ रहा हाईईईईईईई चल अब मेरे बालों को पकड़ कर

खींच और पूरी ताक़त से अपना लंड मेरे भोसड़ी में पेल दीईईए

अमन ने सीमा के बालों को पकड़ कर पूरी ताक़त के अपनी कमर को आगे की तरफ धकेला लंड पूरे तेज़ी से

अंदर जाकर सीमा की बच्चेदानी के छेद से जा टकराया

सीमा:अहह उम्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह हाआआं ऐसे हीईईईईई ज़ोर से चोद्द अपनी रंडी

मौसी कूऊ अहह लीईई आज सीईईईई में तेरी रांड़ बंद कर रहूंगी और्र्र्र्ररर रोज

बिना परेशानी के तुझसे दिन भर अपनी चूत को चुद्वन्गीईईइ आज्ज्जज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज से में तेरईईईई हुन्न्ञननणणन्

और अमन पूरे जोश के साथ सीमा के बालों को पकड़े हुए सीमा की चूत में लंड पेलने लगा अमन की

जांघे सीमा के बड़े-2 चुतड़ों से टकरा रही थी और ठप-2 की आवाज़ गूँज रही थी अमन पूरी तेज़ी से

सीमा की चूत को चोद रहा था सीमा हर धक्के के साथ अह्ह्ह्ह अहह ओह कर रही थी और

अपनी चूत को पीछे की तरफ धकेल कर अमन का लंड अपनी चूत में ले रही थी 5 मिनट की चुदाई में

सीमा झड गयी और उसकी सीकरियाँ गूंजने लगी

सीमा:अहह ओह सीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई अहह मजाअ आआआआआ गया

ओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह और सीमा बेड पर आगे की तरफ लूड़क गयी अमन का लंड बाहर आ गया अमन अभी तक

नही झडा था अमन से सीमा को सीधा किया और उसकी टाँगें उठा कर अपनी जाँघो पर रख कर अपने लंड

को फिर से सीमा की चूत में पेल दिया और बिना रुके लंड को अंदर बाहर करने लगा और झुक कर सीमा की

चुचियों को चूसने लगा सीमा फिर से गरम होने लगी और अपने होंठो को दाँतों में भींच कर पूरी

ताक़त के साथ अपनी गान्ड को ऊपर की ओर उछालने लगी

सीमा: (अपनी गान्ड ऊपर की ओर उछालते हुए) मज्ज़ज़ज्ज्जाआाअ आआआआआअ रहा है नाआ लीईए और

लीईईई फाड़ दीईईए मेरे चोत्त्त्टटटटटटटटटतत्त अहह उहह अमन अपना पूरा ज़ोर लगा कर

धक्के मार रहा था और सीमा भी गान्ड उछाल कर अमन का पूरा साथ दे रही थी

सीमा:अमान्ंणणन् अहह में झाद्द्दद्ड वालिइीई हूँ अहह ओह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह

और सीमा की चूत ने फिर से एक बार पानी छोड़ दिया लेकिन अमन झड़ने के नाम नही ले रहा थे अमन बिना

रुके अपना लंड सीमा की चूत के अंदर बाहर कर रहा था

सीमा:अहह ओह रुकूऊऊऊऊऊऊ मुझीईई अहह

और मन सीमा को बिना रुके चोदता रहा दो बार झड़ने के करण सीमा बहाल चुकी थी तभी अमन से

सीमा की चूत पे अपने लंड को पटकने लगा और दो चार धक्कों के बाद झड़ने लगा एक के बाद एक अमन

का लंड चार बार रुक -2 कर सीमा की चूत की दीवारों पर अपने वीर्य की बोछार करने लगा सीमा

को इतना मज्जा अपनी ज़िदगी में कभी नही आया था अमन सीमा की बगल में लुढ़क गया अमन बहुत थक

चुका था और सीमा अमन की छाती को चूमती हुई उसे अपनी बाहों में समा लिया दोनो एक दूसरे

मदरजात नंगे रज़ाई के अंदर लिपटे हुए थी और कड़ाके की सर्दी का आनंद ले रहे थे थोड़ी देर बाद दोनो

को नींद आ गयी सुबह जब सीमा की नींद टूटी तो सुबह के 7 बज चुके थे उसने जल्दी से उठ कर अपने

कपड़े पहने और अमन को भी उठा दिया अमन भी कपड़े पहनने लगा फिर सीमा और अमन नीचे आ

गये और सीमा अपने काम में लग गयी सुबह चाइ बना कर अपने सास ससुर को दी और अमन के कमरे

में दूध लेकर गयी उसे दूध देकर नाश्ता बनाने चली गयी

दूसरी तरफ बबलू स्टेशन से घर वापिस आ रहा था वो मन में सोच रहा थे कि साले ये 3 महीने किसी

तरह गुजर जाए फिर वो रेणु और शोभा को एक साथ एक ही बेड पर पटक-2 कर चोदे गा पर तब तक इस लंड

का क्या करूँ वो साली सुसमा भी पता नही कहाँ गायब हो गयी बबलू घर पहुँच गया उसने बेल बजाई

गेट रेणु ने खोला बबलू के अंदर आता हैं रेणु ने गेट बंद किया और पलट का बबलू को बाहों में भर

लिया और बबलू ने अपने होंठ रेणु के गुलाबी होंठो पर रख दिए थोड़ी देर किस करने के बाद रेणु अलग हो

गयी और नाश्ते के लिए ऊपर आने को बोल गयी जब बबलू फ्रेश होकर ऊपर नाश्ता करने गया तो रेणु डाइनिंग

टेबल पर बैठी हुई थी

बबलू:आज स्कूल नही गयी

रेणु: कल ही तो बताया था आज से छुट्टियाँ शुरू है अब 2 जनवरी को स्कूल खुले गा फिर तीनो बैठ कर नाश्ता

करने लगे

शोभा:बबलू आज हम रेणु के मामा के घर जा रहे हैं उनके बेटे का जनमदिन है तुम भी चलो

बबलू:नही मेरा मूड नही है मुझे बहुत नींद आ रही है आप चले जाओ

शोभा:ठीक है फिर तुम यहीं मेरे रूम में ही सो जाना हम शाम को 6 बजे तक आ जाएँगी

नाश्ते के बाद शोभा और रेणु के तैयार होकर घर से निकल गयी बबलू नीचे आकर रूम में सो गया वो


aman ne apne lund ke chamdi ko peeche kiya aur supaaDaa ko seema ke choot ke ched par laga diya aur seema

ke jaangho ko pakad kar apni kamar ko jhatka diya adha lund seema ke choot mein sama chukka tha

seema:ahhhhhhhhhhhhhhhhh ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhsiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii

aur seema ne aman ko apni oopar kheench liya aman ne apna lund par aur jor dala lund choot ke diwaron ke

phailata hua poora andar chala gaya aman ne apna ek hath seema ke chuchi par rakh diya aur uski chuchi ko

maslne laga aur apne hontho ko seema ko hontho par rakh diye aur dheere-2 apne lund andar bahar Karne laga

seema ne apne dono ke oopar rajai kheench lee aur apni tangon ko aman ke kamar par chadha kar laapet

liya aur dono ek dosre ke bahon mein ghutam-gutha ho rahee thee aman jaise hee apna lund dahka lagan ke

liye bahar nikalta seema apni choot ko oopar ke taraf uchal kar phir se aman ka lund choot mein le leti aman

seema ke hontho paglo ki tarah choos raha tha aur seema ne apna mooahn khol kar dheela chod diya seema

ke hath aman ke gaanD aur peeth ko sehla rahe thee aman ka lund poora jhad tak andar bahar ho raha tha

aman ne dhakon ke raftar badha dee ab poore kamre mein seema ke siskaryan aur thap-2 ki awaz aa rahi

thee seema bhee poore josh ke sath apni kamar oopar ke taraf uchal kar aman ka lund le rahi thee seema

poori tarah mast ho chuki thee bablu apne dono hathon se seema ki chuchiyon ko masal raha tha aur kabhi

uske nipples ko chusta seema jhadne ke bilkul kareeb thee

seema;ohhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ahhhhhhhhhhhhhhhhh aur jorrrrrrrrrrrrrrrrrrr seeeeeeeeeeeeee

phadddddddddd deeeeeeeeeeeeeeeeee ahhhhhhhhhhhhhhhh ahhhhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiii

aman poori takat se seema ke choot mein apna lund pelane laga fatch-2 thap-2 ke awaz poore kamre ko

aur kamuk bana rahi thee seema poori takat se apni choot ko oopar ki aur lund par patak kar lund andar le

rahi thee aur uski choot ne garam pani chod diya aman bhee teen char dhakon ke sath seema ke choot mein

jjhad gaya aur apne veerya ke bochar seema ke bachhedani ki diwaron par Karne laga apni bachhedani aur

choot par aman ke garam veery ko mahoos karke seema ke face ek dam khil gaaya aman seema ke oopar

lundak gaya aur seema uske balon ko sahlane lagi aman uth kar ghutnon ke bal baith gaya aur apna lund

bahar nikala aman dekh kar hairaan tha uska lund abhi bhee waise hee khada thaa aman seema ke bagal

mein let gaya seema uski taraf karvat badal kar let gaye aur aman ke lund ko hath mein lekar sehalne lagi

aman peeth ke bal leta hua tha seema uske kandhe par sar rakh kar leti hui uske lund ke supaaDaa par apne

ungliyon ko hila rahe thee aur beech-2 mein aman ke golyon ko bhee apne hath se sahla rahi thee aman phir

se garam hone laga tha seema uske oopar thoda sa jhuk gaye jise seema ke chuchiyaan aman ke hontho ke

sammen aa gaye aman seema ke ek chuchi ko mooahn mein lekar chusane laga seema achank se uth kar

aman ke tangon ke beeche mein aa gaye aur uske lund ke supar ke chamdi ko peeche karke gulabi ched

apne ungliyon se sahlane lagi phir lund par jhuka kar apni jeebh se aman ke lund ke supaaDaa ko chaten lagi

aman ke jism mein current doud gaya use yakeen nahi ho raha tha ki uski mousi uske lund ko apni jeebh se

chhat rahi thee seema apni jeebh ko aman ke lund ke supaaDaa ke charo taraf ghuma kar chat rahi thee phir

usne lund ke supaaDaa ko mooahn mein le liya aur supaaDaa ko chusane lagi aman ke masti ka koi tikana nahi tha

seema ka sar teji se oopar neeche ho raha tha aur seema ke hontho aman ke lund ke supaaDaa par kase hue thee

aur aman ke lund ka supaaDaa aandar bahar ho raha tha seema ab adhe se jayada lund mooahn mein lekar

choos rahi thee aur hath se aman ke taton ko sahla rahi thee seema ne aman ke lund ko mooahn se nikal kar

aman ke taton ke chatna shuru kar diya aman to jaise janat ke sair kar raha tha seema phir aman ke oopar let

gaye uski badi-2 chuhcyan aman ke chatti mein dhans gaye thee seema ne apne hontho ko aman ke hontho par

rakh diye aman ko seema ke hontho se ajeeb sa namkin sawad aa raha tha par thodi hee der mein achha lagen

laga aman ke hath seema ke chutron ko thame hue thee aur uske chutorn ko masal rahe the aur kabhi phaila

kar uski gaanD ke ched ko ujagar kar rahe thee phir seema seedhe khadi ho gaye aur aman ko ghutno ke bal

baithane ko kaha aman bed par ghutno ke bal baitha hua tha aur seema bed par khadi hokar apni jaangho ko

chodi karke apni choot ko aman ke munh par laga diya

seema: ahhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiii leeeeeeeeeeeeee chaaat leeeeeeeeeee apni mousiiiiiiii ka bosdha

ahhhhhhhhhhhhhhh

aur aman ne bina skonch kiye apne munh seema ke choot par laga diya aur uski choot ko chaten laga

seema ke kamar jhatke khane lage jaise wo aman ke mooahan ko chod rahi ho seema ne aman ke sar ko

pakad kar apni choot ko uske mooahan par ragadne lagi aur aman apne dono hathon seema ke bhangs ko

phaila kar apne mooahn mein lekar choosane laga seema ahhhhhhhhhhh umhhhhhhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiii

kar rahi thee

seema:ahhhhhhhhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii haaaaaaaaaan aiseeeeeeeeeee heeeeeeeeeee tunnnnnnnnnnnnnnn

bahut achhaaaaaaa chooostaaaaaaa haiiiiiiiiiiiiiii uiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ahhhhhhhhhhhhhhhh

aur jor seeeeeeee choos ahhhhhhhhh leeeeeeeeee sara pani peeeeeeeee ahhhhhhhhhhhh mera rajaaaaaaaa

betaaaaa apni mosui ke bur koooooooo ahhhhhhhhhh

seema ab poori tarah se garam ho chuki thee seema ne apni choot ko aman ko mooahan se hatya aur bed

par dono hathon aur ghutno ke bal doggy style mein aa gaye aur aage se jhuk kar peeche apni gaanD ko

oopar ki taraf kar lee jise seema ke choot bahar ki taraf aa gaye

seema:chal peeche aa ja aur daal de apna lund meri choot mein aur mujhe kutyan ki tarah chod de aman uth

kar seema ke peeche aa gaya aur ghutno ke bal baith kar apne lund ko pakad kar seema ke choot ke ched par

tika diya seema ne apni choot ko peeche ki aur dhakkela lund ka supaaDaa seema ke choot ke andar chala gaya

seema:ahhhhhhhhhhhhh umhhhhhhhh bahut maja aaaa raha haiiiiiiii chal ab mere balon ko pakad kar

kheench aur poori takat se apna lund mere bhosdi mein pel deeeeeee

aman ne seema ke balon ko pakad kar poori takat ke apni kamar ko aage ke taraf dehakla lund poore teji se

andar jakar seema ke bachhedani ke ched se ja takaraayaa
seema:ahhhhhhhhhhhhhhh umhhhhhhhhhhhhhhh haaaaaan aise heeeeeeeeeeeee jor se chodd apni randi

mousi koooo ahhhhhhhhhhh leeeeeeeee aaj seeeeeeeeeee mein teri raand band kar rahoongee aurrrrrrr roj

bina pession ke tujse din bar apni choot ko chudwangiiiiiii ajjjjjjjjjjjjj se mein tereeeeeeee hunnnnnnnn

aura man poore josh ke sath seema ke balon ko pakde hue seema ke choot mein lund pelane laga aman ke

jaanghe seema ke bade-2 churtron se takra rahi thee aur thap-2 ki awaz gunj rahi thee aman poori teji se

seema ki choot ko chod raha tha seema har dhakken ke sath ahhhh ahhhhhh ohhhhhhhh kar rahi thee aur

apni choot ko peeche ke taraf dhakkel kar aman ka lund apni choot mein le rahi thee 5 min ke chudai mein

seema jhad gaye aur uski sikaryan gunjane lagi

seema:ahhhhhhhhhhh ohhhhhhh siiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii ahhhhhhhhhh majaaa aaaaaaaaaa gaya

ohhhhhhhhhhhhhhh aur seema bed par aage ki taraf ludak gaye aman ka lund bahar aa gaya aman abhi tak

nahi jhada tha aman se seema ko seedha kiya aur uski tangen utha kar apni jaangho par rakh kar apne lund

ko phir se seema ke choot mein pel diya aur bina ruke lund ko andar bahar Karne laga aur jhuk kar seema ke

chuchiyon ko chusne laga seema phir se garam hone lagi aur apne hontho ko danton mein bheench kar poori

takat ke sath apni gaanD ko oopar ki aur uchalane lagi

seema: (apni gaanD oopar ke aur uchaltehue) majjjjjjaaaaaaa aaaaaaaaaaa raha hai naaaa leeeee aur

leeeeeeeeeee phad deeeeeee mere chottttttttttttttt ahhhhhhhhh uhhhhhhhhhhhh aman apna poora jor laga kar

dhakhe maar raha tha aur seema bhee gaanD uchal kar aman ka poora sath de rahi thee

seema:amannnnn ahhhhhhhhhh mein jhaddddd waliiiii hun ahhhhhhhhhhhh ohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh

aur seema ke choot ne phir se ek baar pani chod diya lekin aman jhaden ke naam nahi le raha the aman bina

ruke apna lund seema ke choot ke andar bahar kar raha tha

seema:ahhhhhhhhhhh ohhhhhhhhhhh rukoooooooooooooo mujheeeeee ahhhhhhhhhhh

ura man seema ko bina ruke chodta raha do baar jhaden ke karan seema behal chuki thee tabhi aman se

seema ke choot pe apna lund ko patken laga aur do chaar dhakon ke baad jhaden laga ek ke baad ek aman

ke lund ye chaar baar ruk -2 kar seema ke choot ke diwaron par apne veery ke bochar Karne laga seema

ko itna majja apni jidgi mein kabhi nahi aya tha aman seema ke bagal mein lutak gaya aman bahut thak

chukka tha aur seema aman ke chhati ko choomti hui use apne bahon mein sama liya dono ek doosre

madarjaat nange rajai ke andar lipte hue thee aur kadake ke sardi ka anand le rahe thee thodi der baad dono

ko neend aa gaye subah jab seema ke neend tooti to subah ke 7 baj chuke thee usne jaldi se uth kar apne

kapde pehane aur aman ko bhee utha diya aman bhee kapde pehane laga phir seema aur aman neeche aa

gaye aur seema apne kaam mein lag gaye subah chai bana kar apne saas sasur ko dee aur aman ke kamre

mein doodh lekar gaye use doodh dekar nasta bannane chali gaye

doosri taraf bablu station se ghar wapis aa raha tha wo man mein soch raha the ki sale ye 3 mahine kisi

tarah gujar jaye phir wo Renu aur shobha ko ek sath ek hee bed par patak-2 kar chode ga par tab tak is lund

ka kiya karoon wo Sali susma bhee pata nahi kahan gayab ho gaye bablu ghar phaunch gaya usne bell bajai

gate Renu ne khola bablu ke andar atten hain Renu ne gate band kiya aur palat ka bablu ko bahon mein bhar

liye aur bablu ne apne honth Renu ke gulabi hontho par rakh diye thodi der kiss Karne ke baad Renu alag ho

gaye aur naste ke liye oopar aane ko bol gaye jab bablu fresh hokar oopar nasta Karne gaya to Renu dinnig

table par baithi hui thee

bablu:aaj school nahi gaye

Renu: kal hee to bataayaa tha aaj se chuttiyaan shuru hai ab 2 jan ko school khule ga phir teeno baith kar nasta

Karne lagee

shobha:bablu aaj hum Renu ke mama ke ghar ja rahe hain unke bete ka janamdin hai tum bhee chalo

bablu:nahi mera mood nahi hai mujhe bahut neend aa rahi hai aap chale jao

shobha:theek hai phir tum yahin mere room mian hee so jana hum shaam ko 6 baje taka a jayengee

naste ke baad shobha aur Renu ke taiyaar hokar ghar se nikal gaye bablu neeche aakar room mein so gaya wo